केशवना की बच्चियों ने यूट्यूब से सीखी रणनीति और हॉकी में जीती

जागरूक टाइम्स 167 Sep 4, 2018

जालोर। राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय केशवना की बालिकाओं ने यू ट्यूब पर देखकर  हॉकी के गुर सीखे। पहली बार टीम ने प्रतियोगिता में भाग लिया और जिले मेंं तीसरा स्थान प्राप्त किया। केशवना स्कूल की बच्चियों के लिए तकनीक ने तकदीर का काम किया।

संचार क्रांति के इस युग मेंं इंटरनेट सूचनाएं एवं अन्य जरूरी जानकारियां प्राप्त करने का संसाधन व जरूरत सा बन गया है। विश्व पटल पर वर्तमान मेंं इस सेवा का उपयोग कई तरह से होने लगा हैं। जिले के सरकारी स्कूल राउमावि केशवना की बालिकाओं मने बिना किसी पूर्वानुभव व प्रशिक्षण के तकनीक के सहारे इंटरनेट के माध्यम से ना केवल यू टय़ूब से हॉकी के खेल को देखकर सीखा बल्कि जिलास्तरीय प्रतियोगिता मेंं भाग लेकर जिले भर मेंं तीसरा स्थान भी प्राप्त किया। इन बालिकाओं के प्रथम प्रयास मेंं प्रतियोगिता मेंं मिला स्थान मायने रखता हैं। बालिकाओं के इस जज्बे को देखकर प्रधानाचार्य, स्कूल प्रशासन समेत ग्रामिणों ने भी टीम की सराहना की।

एक माह पहले बना मानस, हौसले ने दिखाई राह

ग्रामीण स्तर पर खेलकूद के क्षेत्र मेंं पिछले दशक भर से संसाधनों व सुविधाओं के अभाव मेंं प्रतिभाओं को आगे बढने का अवसर नहीं मिल पा रहा। पर राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय केशवना की बालिकाओं मेंं खेल के प्रति रूची को देखते हुए प्रधानाचार्य यज्ञदत्त जोशी ने इन्हें संबल प्रदान किया। संसाधनो की कमी व प्रशिक्षण देने की समस्या सामने खडी थी। ऐसे मेंं भामाशाहों के सहयोग से खिलाडियों के लिए जरूरी सामान, हॉकी किट समेत सभी प्रकार की सुविधाए उपलब्ध करवाई। बाद में गुडा बालोतान मेंं आयोजित जिलास्तरीय हॉकी प्रतियोगीता की सूचना पा कर एक माह पहले ही इस में भाग लेने की योजना बनाई ।

यूट्यूब बना मददगार

बिना किसी प्रशिक्षण के खेल को सीखना व प्रतियोगिताओं मेंं भाग लेना आसान नहीं होता। पर प्रधानाचार्य जोशी के एक आइडिया ने हॉकी टीम तैयार कर दी। उन्होने बड़ी स्क्रीन पर यू ट्यूब पर बालिकाओं को हॉकी के मैच दिखाकर डिफेंस, अटेक व खेल रणनीति के बारे मेंं जानकारी दी टीम प्रभारी प्रह्लाद गर्ग ने मार्गदर्शन किया। इसी आधार पर खेल शुरू कर दिया व अतिथि कोच सुनील सैनी के द्वारा टीम को मैदान मेंं खिलाडियों की पोजीशन लेफ्ट आउट, सेंटर हाफ, फाउल आदि शब्दावलियों से परीचय करवाते हुए खेल को तराशा। जिसकी बदौलत इस टीम ने प्रतियोगिता मेंं विरोधी टीम को कडी टक्कर दी व जीत भी हासील की।

Leave a comment