सड़क निर्माण को लेकर मनमर्जी, विभाग पर लगाया आरोप, न नोटिस दिया और न ही मुआवजा

जागरूक टाइम्स 514 May 31, 2019

सांचौर : क्षेत्र के सेसावा सरहद में सड़क निर्माण के दौरान किसानो के खातेदारी खेतो में बिना सूचना हाईवे की परिधी से बाहर निर्माण करने व सड़क किनारे बने किसानो के मकानो को तोडऩे के घटना के बाद घटना स्थल पर ग्रामीणो ने विरोध करते हुए कार्य को रूकवा कर कार्यवाही की मांग की। ग्रामीणो ने हाईवे ऑथरिटी पर बिना सूचना मकानो को तोडऩे व खातेदारी खेत में सड़क निर्माण करने का आरोप लगाया। किसानो ने बताया कि विभाग की ओर से किसानो को खातेदारी खेत में निर्माण के लिये न तो कोई नोटिस दिया गया है, और न ही किसी प्रकार का मुआवजा दिया गया है।

ऐसे हाईवे ऑथरिटी द्वारा मनमर्जी से खेतो में बनाये गये मकान व पानी के टांके को तोड़ दिया गया । जिससे ग्रामीणो में भारी रोष है। घटना की सूचना पर विभाग के अधिकारियो ने मौका स्थल पर पहुंचकर ग्रामीणो से समझाईश की। इस दौरान ग्रामीणो ने बिना नोटिस व बिना मुआवजा के किसानो के खेतो में बने मकान व पानी का टांका तोडऩे के मामले में कार्यवाही की मांग की। इस दौरान ग्रामीणो ने आरोप लगाया कि उनके खेत में खड़े हरे वृक्ष व गार्डन को भी सड़क निर्माण की सीमा से बाहर कर तोड़ दिया गया। इस दौरान सेसाव सरपंच प्रतिनिधि जगदीश कड़वासरा ने मौका स्थल पर पहुंच हाईवे निर्माण के दौरान की जा रही मनमर्जी को लेकर विरोध किया। इस दौरान ग्रामीण भी नियम विरूद्ध हो रहे निर्माण को लेकर विरोध जताते हुए मामले में कार्यवाही नहीं होने तक निर्माण कार्य बंद करने की मांग करने लगे ।

भारत माला के तहत हो रहा है निर्माण - क्षेत्र के सेसावा सरहद में सेसावा व अगड़वा सरहद में भारतमाला के तहत निर्माण किये जा रहे हाईवे पर विभाग द्वारा हवाई पटटी का निर्माण किया जा रहा है। जिसकी चौड़ाई ज्यादा होने से सड़क से सटे किसानो के खेतो में निर्माण किया जा रहा है। जबकि किसानो का कहना है, कि उनको न तो किसी प्रकार का नोटिस दिया गया है और न ही मुआवजा को लेकर किसी प्रकार की प्रक्रिया अपनाई गई है। उन्होने नियम विरूद्ध हो रहे कार्य को लेकर धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है।

इनका कहना -
भारत माला के तहत सड़क निर्माण हो रहा है, विभागीय नियमो के आधार पर ही कार्य किया जा रहा है। अगर किसी को मुआवजा नहीं मिला है, तो विभाग की ओर से उच्चाधिकारियो को अवगत करवा दिया जायेगा । ... नवरत्न, डिप्टी मेनेजर भारमाला परियोजना

भारतमाला को लेकर हो रहे निर्माण कार्य को लेकर ग्रामीणो की सूचना पर मैं स्वयं मौका स्थल पर गया था। विभाग के नियमानुसार जो भी होगा कार्यवाही की जायेगी। ... प्रेमाराम, तहसीलदार चितलवाना

भारत माला सड़क निर्माण से किसानों को नुकसान हो रहा है। विभाग के अधिकारी किसानो को बिना नोटिस व मुआवजा व बिना आवाप्ति भूमि के कृषि भूमि में निर्माण किया जा रहा है।कई किसानो के पने प1के मकान, टांके व हरे पेड़ उखाड़ दिये है। मामले में कार्यवाही होनी चाहिये, प्रभावित किसानो को मुआवजा दिया जाये। नहीं ग्रामीणा धरना प्रदर्शन करेगें। जिसकी समस्त जि6मेदारी विभाग की रहेगी। ... जगदीश कडवासरा, सरपंच प्रतिनिधि ग्राम पंचायत सेसावा ।





Leave a comment