राजस्थान गौरव यात्रा का होगा विरोध, भारतीय किसान संघ दी चेतावनी, यह है वजह...

जागरूक टाइम्स 501 Aug 11, 2018

बागोड़ा @ जागरूक टाइम्स

भारतीय किसान संघ ने सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध करवाने सहित विभिन्न मांगों पर आश्वासन के बावजूद अमल नहीं होने पर नाराजगी जताते हुए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा का विरोध करने की चेतावनी दी है। इस सम्बंध में संघ के प्रतिनिधि मंडल ने शनिवार को जिला कलेक्टर के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा है।

ज्ञापन में आरोप लगाया है कि भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट के सामने 24 जनवरी 2016 को किसानों का महापडाव हुआ था। जिसमें जालोर जिला डार्क जोन होने के कारण फसलों की सिंचाई के लिए पानी दिलाने की मुख्य मांग थी। साथ ही नर्मदा सिंचाई क्षेत्र का विस्तार करने व सर्वे करवाने, माही बजाज सागर परियोजना से जिले को जोड़कर कार्य शुरू करने तथा जवाई बांध का भरण एवं पूर्व सर्वे के अनुसार जालोर जिले को जवाई बांध से सिंचाई का पानी दिलाने की मांग की गई थी, लेकिन आज तक इस पर कोई अमल नहीं हो रहा है।

संघ ने ज्ञापन में बताया है कि बारिश के दिनों में जवाई बांध भरने पर उस समय गेट खोल जाते हैं जब अतिवृष्टि व नदी नाले उफान पर होते हैं। जिससे बहाव क्षेत्र में तबाही मच जाती है। यह सिलसिला लम्बे समय से जारी है। इस समस्या से पार पाने के लिए बांध की क्षमता से पहले गेट खोलने चाहिए। ताकि बहाव क्षेत्र में नुकसान नहीं हो। जवाई की जल भराव क्षमता में बढ़ोतरी करने की भी मांग की गई थी।
किसान संघ ने आरोप लगाया है कि राज्य की वसुंधरा राजे ने सुराज संकल्प यात्रा में वादा किया था कि उनकी सरकार सत्ता में आने पर किसानों के लिए सिंचाई योजनाओं पर खरा उतरेंगे। इससे किसानों को भी आस बंधी थी कि वसुंधरा सरकार घोषणा पत्र के अनुसार काम करेगी। लेकिन कोई काम नहीं हुआ। 

विभिन्न मांगों को लेकर किसानों ने महापडाव किया। इस दौरान 24 जनवरी 2016 को मंत्री, प्रशासन तथा भारतीय किसान संघ के प्रतिनिधियों के बीच लिखित समझौता हुआ। जिसमें अगले बजट में इन मांगों पर अमल होने का भरोसा दिलाया गया, लेकिन लेकिन ढाई साल से इस मांगों पर अमल नहीं हो रहा है। ज्ञापन में चेतावनी दी गई कि किसान सरकार से नाराज हैं ओर इसी नाराजगी की खुन्नस अब मुख्यमंत्री की गौरव यात्रा का विरोध कर निकाली जाएगी। ज्ञापन सौंपते वक्त जोधपुर प्रात प्रमुख गणेशाराम चौधरी, सोमाराम चौधरी, जिलाध्यक्ष हरिसिंह देवल, तहसील अध्यक्ष चंदनसिंह गोलियां मौजूद थे।

Leave a comment