राजस्थान त्याग और बलिदान की भूमि- आदित्यनाथ

जागरूक टाइम्स 1571 Nov 2, 2018

जातिगत भेदभाव और छुआछूत का मंच से किया पुरजोर विरोध
- प्रयागराज में कुंभ का दिया निमंत्रण
जालौर। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री और गोरखपुर पीठ के पीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ नाथ महाराज ने कहा कि राजस्थान की धरती बलिदान और त्याग को समर्पित है। कण कण में वीरता बसी हुई है। वे शुक्रवार को मलकेश्वर मठ में भैरुनाथ अखाड़े की ओर से आयोजित धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे।
योगी ने कहा कि जातिगत भेदभाव और छुआछात को त्याग कर राष्ट्र और धर्म के लिए काम करना होगा। तभी एकता संभव है। वर्तमान में सामाजिक समस्या का समाधान जरूरी है। इसके लिए सभी को मिलकर काम करना होगा। इससे पहले भैरुनाथ अखाड़े के महंत गंगानाथ महाराज ने संत परम्परा के तहत सांफ़ा और माला पहनाकर स्वागत किया। योगी ने जवालेन्द्र नाथ से प्राथना कर जालोर वासियो के लिए सुखमय जीवन और आध्यात्मिक जीवन की प्रबलता की बात कही। योगी ने पीर शांति महाराज को सिद्धपुरुष बताया। उन्होंने कहा कि पीर शांति नाथ महाराज के पीछे सिद्धि भागती थी। योगी ने प्रयागराज में कुंभ का जालोर वासियो को निमंत्रण दिया।
इससे पहले गोरखपुर पीठ के पीठाधीश्वर एवं मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ महाराज शुक्रवार शाम साढ़े छह बजे भैरूनाथ अखाड़े पहुंचे, जहां महंत गंगा नाथ महाराज ने माल्यार्पण कर शॉल उड़ाकर स्वागत किया। उसके बाद  योगेश्वर गुरु गोरक्षनाथ की मूर्ति का अनावरण किया। साधु संतों से भी मुलाकात की। उसके बाद गाड़ी द्वारा सामतीपुरा रोड स्थित हल्देश्वर महादेव मंदिर माता कौशल्या धर्मशाला का फीता काट कर उदघाटन किया। गौरतलब है कि गोरखपुर पीठ के पीठाधीश्वर एवं मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश आदित्यनाथ महाराज आज शुक्रवार करीब 6:30 बजे भैरूनाथ अखाड़े पहुंचे। जहां महंत गंगा नाथ महाराज ने माल्यार्पण कर शॉल उड़ाकर स्वागत किया। उसके बाद गुरु गोरक्षनाथ की मूर्ति का अनावरण किया। उसके बाद मलकेश्वर मठ पहुंचे, वहां धर्मसभा को संबोधित भी किया। काटकर शीला पट्टी का अनावरण भी किया। धर्मशाला का निरीक्षण भी किया। उसके बाद मलकेश्वर मठ पहुंचे वहां धर्मसभा को संबोधित भी किया। उस दौरान काफी संख्या में साधु-संत व शहरवासी व धर्म प्रेमी मौजूद रहे। कार्यक्रम में लेटा मठ के रणछोड़ भारती, महेंद्र भारती, प्रेम भारती, परशुराम गिरी, लहर गिरी समेत कई संत लोग उपस्थित थे।

Leave a comment