बागोड़ा में ऐसा हुआ विवाद कि सभी पहुंच गए रातों रात अस्पताल

जागरूक टाइम्स 964 Jul 13, 2020

बागोड़ा। पुलिस थानांतर्गत देवदा का गोलियां गांव में दबंगों की दबंगई का खामियाजा एक परिवार को भुगतना पड़ा।
मामले के अनुसार यहां एक जमीन विवाद में दबंगों ने शनिवार देर रात करीब 1 बजे खेत में बनी ढाणी पर धारदार हथियारों से लैस होकर धावा बोल दिया। परिवार द्वारा विरोध करने पर उन्हें घेर कर जानलेवा हमला कर पूरे परिवार को घायल कर करीब आठ किमी दूर नदी में फैक दिया गया।

देर रात को घटनाक्रम की जानकारी मिलने के बाद पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचा। घायलों को भीनमाल के अस्पताल ले जाया गया है। मामले का मुख्य आरोपी सांवलाराम व नवाराम को बताया जा रहा है। जिन पर पहले से ही प्रकरण दर्ज और विचाराधीन भी है।

लेडिज कपड़ों में प्रवेश
बताया जा रहा है इस जमीन का विवाद काफी समय से चल रहा था और यहां जयरूपाराम और उसका परिवार रह रहा था। विवाद में शनिवार देर रात को आरोपियों ने लेडिज कपड़ों में प्रवेश किया। आरोपियों की संख्या 15 से 20 बताई जा रही है।

इसके बाद आरोपियों ने वार करने शुरू कर दिए। मामले में सांवलाराम व नवाराम ने वारदात को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गए। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है। दूसरी तरफ गंभीर रूप से घायल तमाम लोगों को देर रात को ही भीनमाल अस्पताल भर्ती करवाया गया।

यह है मामला
देवदा का गोलियां निवासी वासुदेव पुत्र जेरुपाराम कलबी ने पुलिस को पेश की रिपोर्ट में आरोप लगाया है कि सरहद नई मोरसीम मे उसके पिता व अन्य सहखातेदारों की भूमि खसरा नम्बर-1202 आई हुई है जिसमें बंट आई जमीन पर रहवासी ढाणी मे मेरे पिता व परिवार निवास करता है। दिनांक 11 जुलाई की रात मे खाना खाने के बाद मेरे पिता-माता व मेरी बहन बागी, मीरा, मन्जू, सीमा और मेरे भाभी मफी पत्नी रमेश सभी सो गए थे, रात्रि करीब एक बजे देवदा का गोलियां निवासी नवाराम पुत्र गीगाराम, सांवलाराम पुत्र गीगाराम, हीराराम पुत्र गोकलराम,अणदाराम पुत्र खीमराज, पारसाराम पुत्र खीमराज, चतराराम पुत्र दलाराम व उदाराम पुत्र दलाराम सभी जातियान कलबी व अन्य लोगों ने धारदार हथियारों से लेस होकर जमीन हड़पने की नियत से अनाधिकृत प्रवेश कर ढाणी मे सोए उसके पिता जेरुपाराम पर जानलेवा हमला बोल दिया। आरोपी नवाराम ने जेरुपाराम के कनपटी पर पिस्टल तान कर सभी को शांत होने को कहा, लेकिन मेरी बहन सीमा ने नवाराम को रोकने का प्रयास किया तो सावलाराम ने मेरी बहन सीमा को पकड़कर नीचे गिरा कर उसकी छाती पर बैठ गया और हीराराम ने जबरदस्ती कपड़े फाड़कर नग्नावस्था मे कर दिया। नवाराम मेरी बहन के साथ बलात्कार करने की नियत से उसके साथ जबरदस्ती की, जिससे मेरी बहन के साथल व गुप्तांग समेत अन्य शरीर के चोटें आईं।

जिसका विरोध मेरी माता, बहिनों व भाभी ने किया तो मुलजिमानों ने माता गीगीदेवी, बहन मन्जू, मीरा व बागी के साथ मारपीट कर घायल कर दिया और मेरी भाभी मफी के कान की मुरकीया छीन ली इस छीना झपटी मे एक कान भी टूट गया। आसपास कोई ढाणी नजदीक नही होने से चिल्लाने के बाद भी कोई नही आया। आरोपियों ने सभी घायलों को बांधकर उनके सारे जेवरात मोबाइल व रुपये लूट कर करीब 8 किमी दूर मरणासन्न अवस्था में सुनसान नदी में फैक दिया। अल सवेरे आरोपियों ने रहवासी ढाणी पर पुनः आकर ट्रेक्टर से तवी लगाकर ढाणी को नष्ट कर सारे सबूत मिटा दिए। पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।



Leave a comment