किसानों ने कहा जमीन ही भरणपोषण का जरिया, मर जाऐंगे मगर देंगे नही

जागरूक टाइम्स 280 Dec 11, 2019
बागोड़ा।उपखंड मुख्यालय पर छह वे दिन भी भारतमाला किसान संघर्ष समिति का जिला स्तरीय बेमियादी धरना जारी रहा, इस दौरान किसानों ने भारतमाला सड़क परियोजना में अवाप्त की भूमि के विरुद्ध विभिन्न मांगो को लेकर नायब तहसीलदार शंकरलाल पुरोहित को प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। कस्बे के दादाल सड़क मार्ग पर स्थित एसडीएम कार्यालय के पास भारतमाला सड़क परियोजना के विरोध में किसानों की विभिन्न समस्याओं के समाधान को लेकर भारतमाला किसान संघर्ष समिति के बेनर तले किसानों का जिला स्तरीय बेमियादी धरना छह वे दिन भी जारी रहा। किसानों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व सड़क परिवहन मंत्री के नाम नायब तहसीलदार शंकरलाल पुरोहित को बड़ी सख्या मे नारेबाजी करते ज्ञापन पेश किया।

उन्होंने ज्ञापन में आरोप लगाया है कि उनकी ग्यारह सुत्रीय मांगो पर छह दिनों बाद भी गौर नही हो रहा है और नही जिला स्तरीय अधिकारी ओर नाही जनप्रतिनिधि धरना स्थल पर आकर किसानों के दर्द को समझने की गुरेज तक कर रहे है। किसान भावाराम पुरोहित ने बताया कि पूर्व में 156 दिनों तक भारतमाला सड़क परियोजना में अवाप्त की गई कृषि खातेदारी भूमि को लेकर तहसील मुख्यालयों पर धरना दिया उस दौरान सांसद पटेल व केन्द्रीय मंत्री मनसुख माण्डवियां ने आश्वासन देकर कहा था कि इसका सर्वे नेशनल हाईवे 68 पर किया जाएगा लेकिन वहा सर्वे नही होकर किसानों को भ्रमित किया गया है अब हम किसी के बहकावे में नही आएंगे।

भीयाराम विश्नोई भालनी ने कहा कि जमीन ही हमारे लिए भरण पोषण का साधन है और यह चली गई तो भूखे मरने की नौबत आ जाएगी, इसलिए मर जाऐंगे लेकिन जमीन नही देंगे। कृषक भोलाराम प्रजापति ने कहा कि हमे मुआवजा नही चाहिए हमारी जमीन ही हमारे लिए सबकुछ है। इस दौरान पूर्व सरपंच हाजाराम चौधरी खेतलावास, भाकराराम कूका, बलवंत सिंह, निरंजन चौधरी, जोगसिह, जालमसिंह दादाल समेत कई गांवों के बड़ी तादाद में किसान मौजूद थे।

Leave a comment