स्कूलों में लौटी रौनक, लेकिन यहां अब भी पसरा है सन्नाटा, जानिए वजह...

जागरूक टाइम्स 405 Jun 20, 2018

मेंगलवा @ जागरूक टाइम्स

ग्रीष्मकालीन अवकाश समाप्त होने के साथ ही 19 जून को सभी सरकारी व निजी विद्यालय शुरू हो गए, लेकिन जीवाणा के राजकीय प्राथमिक विद्यालय मोटूकी नाडी में दो दिन से विद्यालय के ताला जड़ा है। दरअसल राजकीय प्राथमिक विद्यालय मोटूकी नाडी में 2 शिक्षक कार्यरत थे। दोनों शिक्षकों का यहां से कुछ ही दिन पहले ट्रांसफर हो गया। वहीं अब वैकल्पिक तौर पर वहां किसी की नियुक्ति नहीं हो पाई है। यही वजह है कि दो दिन से विद्यालय के ताला लगा हुआ है। 

बैरंग लौट रहे विद्यार्थी

21 जून को विश्व योग दिवस है। ऐसे में सरकारी व गैर सरकारी मान्यता प्राप्त विद्यालयों में योग दिवस मनाने को लेकर दो दिन से तैयारी चल रही है। इसके उलट राजकीय प्राथमिक विद्यालय मोटूकी नाडी में ग्रीष्मावकाश के बाद विद्यालय नहीं खुलने से बालकों को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। हाल यह है कि विद्यार्थी स्कूल तक पहुंच रहे हैं, लेकिन विद्यालय पर ताला देख वापस लौट जाते हैं।

ट्रांसफर हुए शिक्षक साथ ले गए चाबी

पीईईओ सुरेन्द्र कुमार वर्मा ने बताया कि विद्यालय में जो शिक्षक लगे हुए थे, उनका ट्रांसफर हो गया है। ऐसे में शिक्षक चाबी साथ लेकर चले गए हैं। जिसके चलते विद्यालय नहीं खुल पाया।

जिसको सौंपी, वो विद्यालय पहुंचे ही नहीं

विद्यालय में शिक्षकों के स्थानांतरण होने के पश्चात दहिवा में लगे अध्यापक बाबूलाल को जिम्मेदारी दी गई थी। लेकिन वे भी अब तक विद्यालय नहीं पहुंचे।

नजर आ रही लापरवाही

सरकार शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए विभिन्न कायदे और नियम लागू कर रही है। लेकिन उपखंड के जीवाणा क्षेत्र के अध्यापकों के लिए वे सिर्फ हवाई बाते ही साबित हो रही हैं। मोटूकी नाडी में शिक्षकों का ट्रांसफर होने के बाद यहां वैकल्पिक व्यवस्था भी की गई, लेकिन आलम यह है कि अब तक यहां कोई पहुंचा ही नहीं।

कल से खुलवाता हूं विद्यालय

यह मामला मेरी जानकारी है। मैंने दहिवा लगे अध्यापक बाबुलाल को वैकल्पिक जिम्मेदारी दी थी, लेकिन वो दो दिन से विद्यालय नहीं पहुंच रहे हैं। आज ही निर्देश देकर कल से विद्यालय खुलवाता हूं। - सुरेन्द्र कुमार वर्मा, पीईईओ, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय जीवाणा

Leave a comment