सांचोर : नहर में शव मिलने के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग, गर्ग समाज ने दिया ज्ञापन

जागरूक टाइम्स 212 Oct 17, 2020

सांचोर : जिले के चितलवाना उपखण्ड के मालवाड़ा गांव की एक युवती घर से लापता होने के बाद दूसरे दिन नर्मदा नहर में शव मिलने के मामले में युवती के परिजनों ने चितलवाना थाने में नामजद मामला दर्ज करवाने के बावजूद कोई कार्यवाही नहीं होने से नाराज युवती के परिजन व गर्ग समाज के लोगों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम सांचोर तहसीलदार को ज्ञापन दिया। जिसमें आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने व पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग की है। ज्ञापन में बताया कि मालवाड़ा की इंदिरा (बदला नाम) बुधवार को घर से लापता हो गई थी।

जिसकी गुरुवार को नर्मदा नहर में लाश मिली थी। जिस मामले में युवती के परिजनों ने सुखराम पुत्र माहिंगाराम व गोरधन पुत्र कोजा राम मेघवाल के खिलाफ अपहरण करके दुष्कर्म कर सबूत मिटाने के लिए हत्या कर शव को नहर में डालने का आरोप लगाते हुए चितलवाना थाने में मामला दर्ज करवाया था। इस मामले में तीन दिन से बीतने के बावजूद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से गुस्साए लोगों ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया और जल्द कार्यवाही करके आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की।

उग्र आंदोलन की दी चेतावनी
गर्ग समाज के भवन में समाज की बैठक आयोजित की गई। जिसमें जल्द कार्यवाही नहीं होने पर प्रदेशभर में समाज द्वारा उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। सांचोर गर्ग समाज के अध्यक्ष मसरा राम गर्ग ने बताया कि मालवाड़ा की एक बच्ची पर जुल्म करके उसको नहर में डाल दिया। इस घटना को आज तीन दिन बीत जाने के बावजूद अधिकारी कुम्भकर्णी नींद सो रहे है। नामजद मामला होने के बावजूद एक भी आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया है।

उन्होंने कहा कि युवती के शव की परिजनों ने जांच की थी। उसमें लड़की के गुप्तांगों के पास में काफी चोट के निशान थे। इसके अलावा कपड़े भी फटे हुए थे। जिससे प्रतीत हो रहा है कि युवती का गैंगरेप करके नहर में डाला गया है, लेकिन पुलिस ढिलाई बरत रही है। मुकेश गर्ग ने कहा कि गर्ग समाज पर सांचोर क्षेत्र में लगातार अत्याचार हो रहा है। समाज की बेटी की हत्या के मामले में पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही है। जिससे गर्ग समाज में पुलिस प्रशासन के खिलाफ आक्रोश व्याप्त है।

Leave a comment