राहुल गांधी ने कहा - आम बजट के साथ अलग से किसान बजट भी होगा

जागरूक टाइम्स 235 Apr 25, 2019

- गांधी ने २२ लाख युवाओं को रोजगार देने की बात कही

- मोदी पर किया जमकर प्रहार, अब गब्बर टैक्स नहीं एक टैक्स होगा

- कांग्रेस प्रत्याशी रतन देवासी के समर्थन की सभा

जालोर। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि हमारी सरकार आई तो देश में दो बजट पेश होंगे। एक आम बजट और एक किसान बजट। राहुल गांधी ने कहा कि किसानों के लिए अलग से बजट होगा। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमारी सरकार बनी तो किसान द्वारा ऋण नहीं लौटाने पर जेल नहीं जाना पड़ेगा। यह बात जालोर-सिरोही संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी रतन देवासी के समर्थन में गुरुवार को जिले के रामसीन कस्बे में आयोजित चुनावी सभा में संबोधित करने के दौरान कही।

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस सरकार आई तो एक साल में युवाओं को २२ लाख नौकरियां देंगे। जिसमें से १० लाख युवाओं को पंचायतो में रोजगार देंगे। कांग्रेस अध्यक्ष ने भाषण के शुरू में मोदी पर प्रहार करते हुए कहा कि मोदीजी बड़े-बड़े वादे करते हैं। उन्होंने आप सबसे कहा कि १५ लाख रुपए आपके बैंक खाते में जमा करवाऊंग, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। बाद में इसे जुमला करार दे दिया गया। उन्होंने कहा कि मैं चौकीदार को सच्चाई दिखाता हूं। राहुल ने पीएम मोदी पर आरोप लगाया कि वे सिर्फ अमीर लोगों का कर्ज माफ करते हैं।

जबकि कांग्रेस की सोच और राह गरीबों के लिए है। मैं देश के हर गरीब व्यक्ति के खाते में पैसे जमा करवाना चाहता हूं। इसी न्याय योजना का सोच को आकार दिया दिया है। उन्होंने कहा कि मोदीजी पर जनता को गुमराह करने का आरोप गया। विकास के नाम पर सपने दिखाए, लेकिन पांच सालों में कुछ नहीं हैं। झूठे वादों की बुनियाद पर टिके हैं, लेकिन हम जो कहते हैं, वो करते भी है।

उन्होंने कहा कि जीएसटी से छोटे दुकानदारों का नुकसान हुआ। हमारी सरकार आई तो एक टैक्स होगा। मोदीजी ने गब्बरसिंह टैक्स लागू किया। हम उसको एक टैक्स में बदलेंगे। छोटे दुकानदारो से मोदीजी ने पैसा छीना। न्याय योजना का जिक्र करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि न्याय योजना से गरीबो के खाते में पैसा डालेंगे। नया कारोबार शुरू करने पर सरकारी विभागों से किसी प्रकार की अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

साथ ही उन्होंने महिलाओं को ३५ प्रतिशत लोकसभा और विधानसभा में एवं ३३ प्रतिशत सरकारी नौकरी में आरक्षण देने की बात कही। सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जनता ने मन बना लिया हैकि कांग्रेस को सत्ता में लाना है। उन्होंने किसान ऋण माफी का जिक्र करते हुए कहा कि हमने दस दिन के भीतर किसान ऋण माफी की घोषणा के वादे को दो से तीन दिन में ही पूरा कर दिया।

गहलोत ने जिले में रेल के मुद्दे पर बात करते हुए कहा कि जिले में मालगाडियों की वजह से रेल फाटकें आए दिन बंद रहती है। कांग्रेस सरकार बनने के बाद जालोर सिरोही के लिए पर्याप्त संख्या में रेलगाडियां चलाने का काम करेंगे। गहलोत ने कहा कि पीएम अपने मन की बात थोपते है और हम मन की बात सुनेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास रहेगा कि गरीबी को दूर किया जाए।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी कहते हैं कि वादा करो मत, करो तो निभाओं। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि पिछले १५ वर्ष से भाजपा के सांसद है। वहीं पिछले १० साल से एक व्यक्ति सांसद है, उनके कार्यकाल में कितना विकास हुआ, आप सब जानते ही हो। उन्होंने कहा कि १० साल मे सांसद ने कुछ भी विकास नहीं किया। उन्होंने कहा कि रतन देवासी को जिताओ।

जितने के बाद रतन देवासी जिले में विकास में कोईकमी नहीं रखेगा। कार्यक्रम को प्रत्याशी रतन देवासी, मंत्री सुखराम विश्रोई, प्रभारी मंत्री भंवरसिंह भाटी, सिरोही विधायक संयम लोढा, पूर्वसांसद पारसाराम मेघवाल, जिलाध्यक्ष डॉ समरजीतसिंह, पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा, नीरज डांगी समेत कई वक्ताओं ने संबोधित किया।

सभा मेें किसान और गरीबों पर विशेष रहा जोर
जनसभा में राहुल गांधी ने भाषण के दौरान गरीब, किसान, मजदूर, युवाओं समेत महिलाओं से जुडे मुद्दे उठाकर उन्हें साधने का प्रयास किया। युवाओं को २२ लाख नौकरियां देने का वादा, गरीबों को ७२ हजार रुपए देने का वादा, व्यापारियों को एक टैक्स देने की बात, किसानों के लिए अलग से बजट देने की बात और महिलाओं को आरक्षण देने की बात उनके भाषण में मुख्य रही।

७२ हजार जमा करवाने को बताया सच्चा वादा
भाषण के दौरान राहुल ने कहा किह म झूठे वादे नहीं करते हैं। जो कहते वो करते भी है। इसी वादे में ७२ हजार रुपए गरीबों के खातों में जमा करवाने की बात है। हमारी सरकार आएगी तो हर गरीब के खातों में ७२ हजार रुपए जमा करवाएंगे। राहुल ने यह भी कहा कि हम अर्थव्यवस्था को बिना नुकसान किए गरीबों के खाते में एक साल के ७२ हजार रुपए जमा करवाएंगे। ताकि देश पर कोई भार नहीं पड़े।

पीएम के नाम पर नहीं सांसद को चुनना है
भाषण के दौरान सिरोही विधायक संयम लोढा ने जनता को बार-बार यह बात कही कि पीएम के नाम पर वोट देने से कोई नहीं होगा। हमें हमारे क्षेत्र में विकास चाहिए। हमारे क्षेत्र में जरूरी आवश्यकताओं की पूर्ति चाहिए। हमें ऐसा सांसद चाहिए जो दिल्ली में हमारे क्षेत्र के मुद्दों के लिए लड़ सके। हमें पीएम के नाम पर वोट नहीं देना है।

Leave a comment