एक किलोमीटर दूर नर्मदा जलापूर्ति, वहीं बोकड़ा गांव पी रहा है अधिक टीडीएस वाला पानी

जागरूक टाइम्स 98 Jun 18, 2018

जालोर। एक गांव, जहां ग्रामीणों का दर्द दुगुना हो रखा है। चंद मीटर दूर नर्मदा का मीठा जल पहुंच रहा है और जबकि गांव के ग्रामीणों को अधिक टीडीएस का पानी नसीब हो रहा है। ऐसे में इन ग्रामीणों की आंखे भर आती है। यह कहानी है जालोर निकट बोकड़ा गांव की, जिससे आधे से दो किलोमीटर दूरी स्थित कईगांवों में नर्मदा के पानी की सप्लाई हो रही है। लेकिन पाइप लाइन का कार्यअधूरा होने से नर्मदा पानी पहुंचाने का काम अटका पड़ा है।

ग्रामीणों में है रोष, नहीं होती सुनवाई

ग्रामीणों का कहना हैकि बोकड़ा गांव में पाइप लाइन बिछाने का काम कईसमय अटका पड़ा है। ऐसे में नर्मदा का नीर पास वाले गांवों में आने के बाद भी नहीं पहुंच रहा। इससे गांव वालों में रोष बना हुआ है। लोगों का कहना हैकि कोईसुनवाईनहीं होती है।

जलापूर्ति को लेकर पहले भी झेल चुका हैपरेशानी

बोकड़ा गांव कुछ समय पहले अनियमित जलापूर्तिको लेकर भी परेशानी झेल चुका है। कईदिन बीत जाने से पर भी जीएलआर खाली रही थी और लोगों को टैंकरों के भरोसे रहना पड़ा था। अधिकारियों ने लीकेज की बात की थी, लेकिन उस लीकेज ने बोकड़ा ग्रामीणों को करीब १५ से २० दिन तक परेशान कर दिया। इस संबंध में ग्रामीणों ने अधीक्षण अभियंता को भी मामला अवगत करवाया था।

आहोर विधायक ने भी दिया था आश्वासन

बोकड़ा गांव में नर्मदा के पानी को लेकर आहोर विधायक ने भी आश्वासन दिया हुआ है। कुछ समय पहले शिविर में आहोर विधायक ने जल्द से जल्द इस कार्यको पूरा करने का आश्वासन दिया था। कुछ समय पहले एक सभा में भी आहोर विधायक ने कुछ इस तरह का ही आश्वासन दिया था। लेकिन नर्मदा अधिकारियों ने अभी तक विधायक के आश्वासन को पूरा नहीं किया है।

ग्रामीणों ने ज्ञापन, जताया रोष

बोकड़ा के ग्रामीणों ने सोमवार को कलक्टर के नाम अतिरिक्त जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा, जिसमें जल्द से जल्द नर्मदा के पानी सप्लाईशुरूकरवाने की मांग की। ज्ञापन में बताया कि बोकड़ा व देसु गांव के मध्य पाइप लाइन का कार्य अधूरा पड़ा है। जिसके चलते बोकड़ा गांव में नर्मदा के पानी की सप्लाईनहीं दी जा रही है। जबकि बोकड़ा के नजदीक देसू, देबावास और सापणी गांव में नर्मदा के पानी की सप्लाईहो रही है। ग्रामीणों ने बताया कि देसू व बोकड़ा के मध्य पाइप लाइन बिछाने का कार्य पिछले कईमहीनों से बंद पड़ा है। इस दौरान राणसिंह, खुशालसिंह, दिलीपसिंह, वाघसिंह, दलपतसिंह, नेनाराम, भीमाराम चौधरी, धनाराम समेत कई लोग उपस्थित थे।

इनका कहना है
बोकड़ा गांव के साथ अन्याय हो रहा है। गांव वाले नर्मदा के पानी को तरस रहे हैं, सिर्फ अधूरा रहने के कारण। पाइप लाइन का कार्य काफी समय से अधूरा पड़ा है। वहीं बोकड़ा गांव के आस-पास के गांवों में नर्मदा के नीर की सप्लाई हो रही है। ग्रामीणों का दर्द बढ़ता जा रहा है कि पास वाले गांवों में तो नर्मदा की सप्लाई हो रही है और बोकड़ा के ग्रामीण वंचित क्यों।
- खुशालसिंह, बोकड़ा
कई महीनों से पाइप लाइन कार्य अधूरा है। ऐसे में अधिकारियों को सुध लेनी चाहिए कि एक गांव के लोग नर्मदा की सप्लाई से वंचित है। लेकिन मानो उन्हें इससे कोई लेना-देना ही नहीं है। ग्रामीणों में रोष है।
- नेनाराम सुथार, बोकड़ा
                            @ Tarun gehlot. Jagruk


Leave a comment