पांथेडी मामला (सायला): 9 घण्टे की वार्ता के बाद समझाइस के बाद उठाया शव

जागरूक टाइम्स 588 Jul 20, 2020

-उचित जांच कर दोषियों को सजा देने की हुई सहमति

 में युवती के साथ हुए बलात्कार कर हत्या का

थाना क्षेत्र के पाथेड़ी में गुम हुई युवती का दूसरे दिन गोचर भूमि में पेड़ पर लटकता हुआ शव मिलने के शनिवार को माहौल तनावपूर्ण हो गया। ज्ञात रहे पाथेड़ी निवासी संगीता पुत्री रतनाराम देवासी का शुक्रवार को शव मिलने के बाद शुक्रवार को सायला राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की मोर्चरी में डॉक्टरों की टीम द्वारा पोस्टमार्टम किया गया था।
शनिवार को सुबह से ही क्षेत्र सहित जिलेभर से देवासी समाज के लोगो व अन्य लोगो का पुलिस थाने के बाहर जमा होना शुरू हो गया था।
जो पुलिस थाने के आगे स्टेट हाइवे को जाम करने की कोशिश करने लगे तो पुलिस उपाधीक्षक जयदेव सियाग व थानाधिकारी सवाईसिंह महाबार ने समझाईश कर रास्ते को खुलवाया। वही बाद में सांसद देवजी पटेल अस्पताल पहुचे।अस्पताल पहुचकर बीसीएमओ डॉ रघुनंदन विश्नोई से पोस्टमार्टम रिपोर्ट आदि की जानकारी ली।साथ ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्रपालसिंह व उपाधीक्षक सियाग से घटना व पुलिस कार्रवाई की जानकारी ली।वही सियाग ने पुलिस द्वारा परिजनों की रिपोर्ट आधार पुलिस की ओर से किए जा रहे अनुसंधान की जानकारी दी।वही सांसद ने निष्पक्ष कार्रवाई की बात कही।वही आक्रोशित भीड़ बार बार रास्ता जाम करने की कोशिश करती रही।जिन्हें पुलिस बार बार हटाती रही।साथ ही एक बार पुलिस की लोगो के साथ झड़प भी हुई। वही भीड़ द्वारा वाहनो के साथ तोड़फोड़ की।सायला में स्थिती तनावपूर्ण होने पर जिलेभर सहित जालोर से पुलिस बल सायला पहुचा।
वही जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता व पुलिस अधीक्षक श्यामसिंह भी मामला को बिगड़ते हुए सायला पहुचे।अस्पताल के बाहर समाज के लोगो से बात करने की कोशिश की लेकिन भीड़ उतेजित होने पर सीधे थाने पहुचे।इस दौरान बागोड़ा एसडीएम मृदुला शेखावत, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्रपाल सिंह, भीनमाल डिप्टी लाभूराम चौधरी, तहसीलदार मदाराम पटेल,सांचोर थानाधिकारी अरविंद कुमार पुरोहित,रामसीन थानाधिकारी छतरसिंह देवड़ा, गिरधरसिंह, नायब तहसीलदार गणपतसिंह जोधा,पाथेड़ी सरपंच मीरा देवासी , गोपाल देवासी, कृष्ण देवासी, एएसआई मनोहरलाल मीणा आदि मौजूद थे। वही मामले में 5 लोगो को हिरासत में लिया गया है जिनसे पुलिस पूछताछ कर रही है।

*परिजनों ने की थी यह मांग*
घटना के बाद सायला पुलिस थाने के बाहर जमा परिजनों व देवासी समाज के लोगो मे काफी आक्रोश व्याप्त था।
परिजनों की मांग थी कि आरोपियों को मुकदमा जिन धाराओं में दर्ज है।उन्ही में तत्काल प्रभाव से दर्ज की जाए।साथ ही पुनः नवीन मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम किया जाए।पुलिस अधिकारी बार बार निष्पक्ष कार्रवाई की बात कहती रही।लेकिन परिजन नही माने।वही एसएफएल टीम भी जोधपुर से घटनास्थल की जांच के लिए सायला पहुची।



*कलेक्टर-एसपी के आश्वासन पर राजी हुए परिजन*
पुलिस थाने में कलेक्टर व एसपी ने परिजनों से प्रशासन व पुलिस अधिकारियों से वार्ता की।वार्ता में जिला कलेक्टर गुप्ता ने कहा कि घटना के बाद पुलिस पूर्ण सतर्कता से जांच कर रही है।उसमें आप सभी का सहयोग अपेक्षित है।कलक्टर ने परिजनों ने पूर्ण सही कार्रवाई का आश्वासन दिया।जिस पर परिजन शव उठाने को राजी हुआ।

*समाज व भीड़ ने अस्पताल का किया घेराव*
कलक्टर एसपी के आश्वासन परिजन शव उठाने को राजी हुए।तथा मोर्चरी में शव ले जाने के लिए पहुचे।लेकिन भीड़ अस्पताल की गेट पर खड़ी हो गई।जो शव नही उठाने के लिए नारेबाजी करती रही।जिन्हें पूर्व राज्यमंत्री भूपेंद्र देवासी सहित समाजबंधुओं से समझाइश की।लेकिन नही माने।जिस कारण शव नही उठा पाए।

बार बार हुई वार्ता
पांथेडी में बलात्कार कर हत्या के मामले को लेकर दूसरे दिन सवेरे से ही प्रशासन तथा परिजनों के बीच वार्ता होती रही। वही शाम को लोग अस्पताल के आगे रोड पर बैठ गए जहाँ पर जिला कलेक्टर गुप्ता, एसपी श्यामसिंह , भूपेंद्र देवासी ने सम्बोधित कर दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का आश्वासन दिया तथा बारीकी से जांच करने की बात कही। जिस पर शव उठाने पर समझाइस हुई।


Leave a comment