जालोर में कलक्ट्रेट के सामने सड़क पर बैठ गए एनएसयूआई कार्यकर्ता

जागरूक टाइम्स 311 Sep 4, 2018

जालौर। महाविद्यालयों की विभिन्न समस्याओं को लेकर जालौर जिले के एनएसयूआई कार्यकर्ता व कांग्रेस जनों ने राज्यपाल के नाम जिला कलेक्टर के मार्फत उपखंड अधिकारी राजेंद्र सिंह सिसोदिया को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन मे बताया कि जालौर व भीनमाल में लंबे समय से व्याख्याताओं की कमी को लेकर धरना प्रदर्शन करने के बाद भी कोई नियुक्ति नहीं हुई। विज्ञान संकाय में गणित विभाग शुरू करवाया जावे। स्नातकोत्तर में एक ही विषय है। स्नातकोत्तर स्तर पर दो या तीन विषय प्रारंभ करवाया जाए। एम. कॉम., एम.एस.सी. पाठ्यक्रम शुरू करवाया जाए। महाविद्यालय में कैंटीन व्यवस्था की जावे। राजकीय महाविद्यालय भीनमाल में महाविद्यालय के चारों ओर चारदीवारी लंबे समय से क्षतिग्रस्त हैं। कई बार अवगत करवाने के बावजूद भी कार्यवाही नही हुई। भीनमाल, रानीवाड़ा महाविद्यालय में छात्रावास प्रारंभ किया जाए। सांचौर में सरकारी महाविद्यालय बंद किया गया था जो पुनः प्रारंभ किया जाए। इन सभी मांगों को लेकर जिला अध्यक्ष विकास मांजू के नेतृत्व में छात्र अधिकार रैली निकाली गई। जिसमें एनएसयूआई के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भरत मेघवाल, कांग्रेेेस खनन प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष लालसिंह धानपुर, aicc सदस्य जितेंद कसाना, युवा कांग्रेस के कार्यवाहक जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह सांखला, कांग्रेस प्रवक्ता योगेन्द्र सिंह कुम्पावत, एनएसयूआई वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रवीण राणावत, भरत जानी, मदन मीना, ललित राव, सुरेश सोलंकी, महिपाल जाट, सुरेश पटेल, भरत आलासान, अर्जुनसिंह वेडिया, शंकर लाल, दिनेश, युवा कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष धीरज गुजर, महिला कॉलेज पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष सुष्मिता गर्ग, अजयपालसिंह, दिनेश, वीरेंद्र सिंह हरियाली, रामपाल, सुरेश थावला, सुरेश मेघवाल, निराली गोड समेत काफी संख्या में छात्र छात्राएं व कांग्रेसी मौजूद थे।

Leave a comment