मारवाड़ का अकाल बना गौवंशो का काल

जागरूक टाइम्स 363 May 16, 2019

भीनमाल । इस वर्ष राजस्थान में वर्षा न होने के कारण संपूर्ण राजस्थान भयंकर अकाल की चपेट में है । पिछले वर्ष जोधपुर संभाग में बारिस न के बराबर होने के कारण चारे के दाम तीन गुणा बढ़ने की वजह से गौपालको ने अपने गौधनो को भुखा प्यासा राम भरोसे सडकों पर छोड़ दिया है । अकाल की वजह से संपूर्ण मारवाड़ में उन निराश्रित गौवंशो को चारा पानी न मिलने के कारण रोजाना सेकडो गौवंश भुख प्यास के कारण अपना दम तोड़ रहे हैं ।

अकाल के चलते गांवों में चारे की भारी किल्लत है। इस समय 8 से 10 किमी घूमने के बाद भी गौवंशो एवं पशुओं को चारा-पानी नहीं मिल रहा है । ऐसे में दम तोड़ते निराश्रित गौवंशो के नजारे आम हो चुके हैं। पिछले कुछ दिनों में हालात और भी विकट हो गए हैं। इस वर्ष बरसात नही होने के कारण अकाल का असर बढ़ जाने से जगह जगह गायों की मौत का सिलसिला शुरू हो चुका है। एक अनुमान के मुताबिक पिछले महीने जालोर, सिरोही, जैसलमेर, बाडमेर तथा पाली जिलों में सैकड़ों गायों की मौते हो चुकी है। अकाल की वजह से कुओं एवं बोरवेलो का जल स्तर घट गया है । पूरे क्षेत्र में तालाबो नदियों का जल स्तर सुख गया है । किसान - गोपालक परेशान है ।

गौशालाओ के उपर कर्ज बढ चुका है । राजस्थान में सैकडो गौशालाये बंद होने की कगार पर है । जल्द ही गौशालाओ व निराश्रित गौवंशो के लिए चारे पानी की व्यवस्था नहीं हुई तो उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। ऐसे में जल्द ही सरकार को अकाल राहत अनुदान व चारा डिपो खोलने चाहिए । यदि सरकार की तरफ से जल्द ही गौवंशो एवं पशुओं को राहत नहीं दी गई तो भारी नुकसान हो सकता है। राजस्थान में लाखो निराश्रित गौवंश काल के गाल में समा जायेगे । यदि जल्द ही राहत शिविर नहीं खुले या पानी की समुचित व्यवस्था नहीं हुई तो मुश्किलें बढ़ सकती है। लाखो गौवंश प्राण गवा देगे ।

गायो तथा गौवंशो की रक्षा के लिए भामाशाह एवं समाज सेवियों को आगे आना होगा । नागरिक कल्याण मंच के अध्यक्ष माणकमल भंडारी एवं गोसेवार्थ तेरा तुझको अर्पण के सदस्य गौपुत्र हरीश कुमार पुरोहित आलड़ी ने अहिंसा प्रेमियों से अनुरोध किया हैं कि मारवाड़ क्षेत्र में पड़े अकाल को देखते हुए ज्यादा से ज्यादा आर्थिक मदद के लिए प्रवासी बन्धु तन, मन तथा धन से सहयोग करें। अपने अपने गावों एवं शहरो में प्रवासी बंधुओ से सहयोग लेकर अपने अपने स्तर पर उन निराश्रित गौ वंशो के चारे पानी की व्यवस्था में सहभागिता निभाकर उन गौ वंश की जान बचाने में मददगार बने ।

Leave a comment