किसानों को ऋण देने का मकसद आर्थिक स्थिति सुधारना : विधायक चौधरी

जागरूक टाइम्स 597 Jul 12, 2018

बागोड़ा @ जागरूक टाइम्स

विधायक पुराराम चौधरी ने कहा कि किसानों को अधिकाधिक ऋण देने का मूल उद्देश्य ही किसान की आर्थिक स्थिति सुधारते उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है। यह पहला मौका है जब एक साथ समयावधि पर ऋषि ऋण भुगतान करने वाले किसानों को भी कर्जमाफी के दायरे में लाभ दिया जा रहा है। वे उपखंड क्षेत्र के राउता ग्राम पंचायत मुख्यालय पर बुधवार को आयोजित ग्राम सेवा सहकारी सोसायटी के राजस्थान फसली ऋण माफी योजना शिविर में ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरण के दौरान मुख्य अतिथि के नाते किसानों व ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। 

उन्होंने सरकार की महत्वाकांक्षी ऋण योजना को लेकर कहा की राज्य की सरकार किसानों को खुशहाल व आत्मनिर्भर बनाने एवं नए-नए आयाम व तकनीकी इजाद कर समृद्ध व सम्पन्न बनाने मे उनके साथ है। इस कर्ज माफी में जिस किसानों के आधार कार्ड लिंक नहीं होने से मुआवजा अटका पड़ा है, उन्हें भी सारी प्रक्रिया पूरी कर जल्दी ही वितरण के प्रयास किए जा रहे हैंं। विधायक चौधरी ने कहा इस शिविर मेंं तीन सौ 47 किसानों के 86 लाख रुपए की ऋण राशि माफ की गई है और दो सौ पच्चास ऋणियों को ऋण माफी के प्रमाण पत्र वितरित किए गए। उन्होंने कहा कि ग्राम सेवा सहकारी समितियों में आयोजित हो रहे शिविरों के माध्यम से तेजी लाकर अधिकाधिक किसानों को कर्ज माफी प्रमाण पत्र व फसली ऋण उपलब्ध करवाने में संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। ताकी इस कर्जमाफी योजना का विभिन्न माध्यमों से व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए और उनकी बदोलत किसान जागरुक होकर राज्य सरकार के इस ऐतिहासिक निर्णय से लाभान्वित हो पाए। साथ ही कहा कि किसानों को ऋण देने का मूल उद्देश्य यह है की हमारा किसान सुख, समृद्ध व आत्मनिर्भर बन जाए।

प्रधान धुखाराम राजपुरोहित ने कृषि योजनाओं को लेकर किसानों से कहा की आज के दौर में नई नई खेती में तकनीक इजाद होने से उनकी जानकारी रखना जरूरी है। ताकी सरकार व कृषि विभाग की ऋण में मिल रही सब्सिडी का फायदा लेकर नकदी समेत अन्य फसलों में अधिक आमदनी हासिल हो। उन्होंने कहा कि अन्य स्त्रोत से भी गांवोंं मेंं दूध डेयरी व अन्य व्यवसाय प्रारंभ कर किसान अपनी आय को गति दे सकता है। यह पहला मौका है जो फसल बीमा योजना में खराबे का मुआवजा भी कर्ज माफी के साथ साथ किसानों को दिया जा रहा है। शिविर के दौरान पूर्व सरपंच भोपालसिंह, सोसायटी मैनेजर गणपतसिंह राउता समेत कार्मिक व ग्रामीण मौजूद थे।

Leave a comment