जालोर : कंटेनमेंट जोन में की जा रही है गहनता से स्क्रीनिंग

जागरूक टाइम्स 128 May 25, 2020

- 6203 सेम्पल में से 4301 नेगेटिव

- 149 पाॅजिटिव एवं 1744 प्रक्रियाधीन

जालोर। कोरोना संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के लिये जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग तत्परता से जुटा हुआ है। प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग के लिये राहत भरी खबर यह है कि शनिवार देर शाम एवं रविवार को प्राप्त रिपोर्ट में जिले में एक भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित नहीं पाया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. गजेन्द्र सिंह देवल ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या के दौरान शनिवार शाम एवं रविवार को प्राप्त रिपोर्ट राहत भरी रहीं है, रिपोर्ट में प्राप्त सूचना अनुसार जांच हेतु प्रक्रियाधीन सेम्पलों मंे से जिले में एक भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित नहीं पाया गया है एवं 374 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है। कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने में विभाग के कोरोना योद्धा रात दिन तत्परता से जुटे हुए हैं।

डाॅ. देवल ने बताया कि संदेहास्पद व्यक्तियों एवं कोरोना संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों में से जिले में अब तक कुल 6203 सेम्पल लिये गये हंै, इनमें से 4301 की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई हैं। जिले में अब तक कुल 149 व्यक्ति कोरोना संक्रमण पाॅजिटिव पाये गये है। 1744 सेम्पल प्रक्रियाधीन हंै। कोरोना पाॅजिटिव आये लोगांे की रिपीट जांच मंे 10 लोगों की द्वितीय जांच रिपोर्ट पाॅजिटिव प्राप्त हुई है एवं बागोडा निवासी एक व्यक्ति उदयपुर में कोरोना पाॅजिटिव पाया गया है। रविवार को जिले मंे 571 टीमों द्वारा 9 हजार 589 घरों का सर्वे कर 34 हजार से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग की गई। जिले में कोरोना पाॅजिटिव पाये गये क्षेत्रों में विभाग की टीमों द्वारा पुनः गहनता से स्क्रीनिंग कर संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आये लोगों को संस्थागत क्वारेंटाईन कर उनके सैम्पल जांच हेतु भिजवाये जा रहे हैं।

जिले आ चुके प्रवासियों एवं पाॅजिटिव आये लोगों के परिवार के सदस्यों एवं सम्पर्क में आये लोगों को घर तथा अधिकृत संेटर में क्वारेन्टाईन किया जा रहा है। जिले में अब तक 1098 लोगों को संस्थागत क्वारेन्टाईन किया गया था। जिनमें से 643 व्यक्तियों के क्वारेन्टाईन दिवस पूर्ण होने तथा सेम्पल की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उन्हंे डिस्चार्ज कर दिया गया है। वर्तमान में 455 व्यक्तियों को संस्थागत क्वारेन्टाईन कर चिकित्सीय देखभाल में रखा गया है।



Leave a comment