हाईवे किनारे घर की राह ताक रहे बेकसूर, हिट एंड रन उजाड़े 3 घरो के चिराग

जागरूक टाइम्स 305 Jul 8, 2019

सांचौर : शहर से गुजरने वाले नेशनल हाईवे पर रविवार सांय को हुआ सड़क हादसे ने हाईवे की सुरक्षा को लेकर कई सवाल खड़ कर दिये है। दिनभर की मजदूरी कर घर की राह देख रहे तीन जनो की दर्दनाक मौत ने मानवता को झकझौर दिया। सड़क पर घर जाने की राह देख रहे चार लोगो को बेकाबू वाहन ने जहां चपेट में लेकर जिन्दगी और मौत के बीच जूझने के लिये अस्पताल पहुंचा दिया, वहीं तीन जनो की कुचलने से मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी। जिसमें तीनो मृतक मजदूर वर्ग के है, जो दिनभर की मजदूरी के बाद घर की ओर जा रहे थे। वारदात के बाद मौका स्थल पर पहुंची पुलिस भी हादसे को लेकर गंभीर नजर आ रही थी। हादसे में प्रयुक्त वाहन को पुलिस ने आनन- फानन में मौका स्थल से हटा दिया गया, किन्तु बेकाबू लग्जरी वाहन का वाहन चालक कौन था यह पुलिस अनजान बनी हुई थी।

तीन परिवारो का उजाडऩे वाले परिवार बेकाबू वाहन चालक के खिलाफ कार्यवाही को लेकर पुलिस ने कोई खास रिपोर्ट तक तैयार नही की। वहीं दुसरी ओर सांचौर हाईवे पर हुए हादसा मुंबई के हिट एंड रन की याद को भी ताजा कर देता है। शहर के भीड़ भाड़ वाले रोडवेज बस डिपो के पास तेज र3तार से निकलने वाले वाहनो को लेकर पुलिस भी उदासीन ही रहती है। जिसको लेकर इस प्रकार के हादसे का हर वक्त अंदेशा रहता है। हालांकि यातायात पुलिस के साथ- साथ परिवहन विभाग का उड़दस्ता इस प्रकार के वाहनो के मामले में कार्यवाही को लेकर किसी प्रकार की ठोस कार्यवाही की बजाय महज औपचारिकता ही दर्शाता है। शहर में बने फोर लाईन हाइवे पर अ1सर निरन्तर अन्तराल के बाद हर रोज हादसे पर हादसे होते रहते है।

किन्तु तत्काल परिस्थतियों में लोगो का आक्रोश शंात करने के लिये पुलिस व प्रशासन स2ताई की औपचारिकताएं जरूर दिखाते है। किन्तु वक्त के साथ हादसे को भुला दिया जाता है। सित6बर २०१७ में शहर के चार रास्ता पर दिन को अखबार बेचते ट्रेलर की चपेट में आने से एक हॉकर की मौत हो गयी थी। वहीं चार रास्ता पर ही टे्रलर की चपेट में आने से २०१८ में एक युवक मौत हो गयी थी। जिसके बावजूद भी पुलिस न तो हाईवे पर खड़े ट्राफिक को हटाने का साहस दिखाया और न ही हाईवे से तेज गति से गुजरने वाहानो के कभी चालान बनाये । इतना ही नहीं हाईवे पर दिन दहाड़े नशे का सेवन वाहन चलाने वाले वाहनो की भी पुलिस कभी जांच नहीं करती है।

पिता का छाया उठ गया,अकेला भाई, अब अस्पताल में लड़ रहा है जिन्दगी और मौत की जंग - रविवार को हाईवे पर हुए हादसे के कुछ दिन बाद पुलिस व प्रशासन भी उक्त हादसे को भुला देगा, किन्तु हादसे का शिकार हुए मृतको के ज2म नहीं भरे जा सकेगें। हादसे में मौत का शिकार हुआ एक अधेड़ जो की रसोई बनाने का कार्य करता था जिसकी मौत हो गयी। वहीं हादसे में घायल हुआ कारोला निवासी सुरेश गर्ग जो कि परिवार का इकलौता वारिश था। जो हादसे में घायल हो गया जिसके पिता का छोटी उम्र में निधन हो चुका है। ऐसे में परिवार के समक्ष रोजी रोटी का सकट भी पैदा हो गया है। जो अस्पताल में जिन्दगी और मौत के बीच जूझ रहा है।

हाईवे के फूटपाथ को बना दिया कॉर्मिशीयल पॉईट - शहर से गुजरने वाले ४ किमी लंबे हाईवे के दोनेा ओर बनाये गये फूटपाथ को लोगो ने कॉमर्शाीयल पॉईन्ट बना दिया है। हाईवे के फूटपाथ पर चाय की थड़ी, नास्ते का ठैला सहित ज्यूस सेन्टर तक बना रखे है। किन्तु उनको हटाने की न तो पुलिस पहल करती है और न ही नगरपालिका इस ओर ध्यान देती है। ऐसे में इस प्रकार के हादसो की पुनरावृति हुई तो स्थिति भयावह हो सकती है।




Leave a comment