सरकारी व गैर सरकारी चिकित्सक एक दिवसीय हड़ताल पर, मरीज परेशान

जागरूक टाइम्स 197 Jun 17, 2019

भीनमाल। पंश्चिम बंगाल के डॉक्टरों के समर्थन में प्रदेशव्यापी आहवान पर नगर सहित उपखंड क्षेत्र में संचालित सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों में कार्यरत चिकित्सकों ने सोमवार को आपाताकालीन सेवाओं को छोड़कर एक दिवसीय हड़ताल पर रहे। इस दौरान राष्ट्रपति के नाम उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौपकर चिकित्सको की मांगो को पूर्ण करने की मांग की गई। इस कारण मरीजों को खासी परेशानी व बिना ईलाज करवाए घर लौटना पड़ा। कई मरीजों को नीम हकिमों की शरण लेनी पड़ी।

हड़ताल के तहत समस्त सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों में सोमवार सवेरे छह से मंगलवार सवेरे छह बजे तक कार्यो का बहिष्कार किया। चिकित्सा प्रभारी एमएम जांगिड़ ने बताया कि इस दौरान समस्त सरकारी व गैर सरकारी चिकित्सकों की बैठक स्थानीय सर्वोदय अस्पताल में आयोजित हुई। बैठक में पंश्चिम बंगाल में जूनियर डॉक्टर के साथ मारपीट की घटना दुव्र्यवहार को लेकर आक्रोश प्रकट कर उनके द्वारा आयोजित धरना प्रदर्शन, हड़ताल व मांगों को जायज ठहराया गया।

इस दौरान चिकित्सकों ने उनकी वाजिब मांगों पर अमल नही करने पर उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी। इसके बाद जुलूस के रूप में उपखंड अधिकारी कार्यालय पहुंचे। यहां महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविद के नाम उपखंड अधिकारी दौलतराम चौधरी को ज्ञापन सौपा। ज्ञापन में चिकित्सकों की सुरक्षा व्यवस्था करवानें, मरीज के साथ एक रिश्वतेदार व गंभीर मरीज के साथ दो रिश्तेदार की व्यवस्था लागू करवाने और चिकित्सकों के साथ मारपीट व दुव्र्यवहार करने वालो के खिलाफ कठोर कारवाई के लिए कानून बनाने की मांग की।

इस अवसर पर डॉ एमएम जागिड़, डॉ हि6मत चौधरी, डॉ भूपेन्द्र चौधरी, डॉ विनोड वारड़े, डॉ हरेन्द्र मीणा, डॉ केके खत्री, डॉ जुगमल चौधरी, डॉ प्रेमराज परमार, डॉ अजय त्रिवेदी, डॉ हार्दिक त्रिवेदी, डॉ वलजीवाला, डॉ सुनिल ढाका, पंाचाराम देवासी, संजीव माथुर, डॉ हितेश राजपुरोहित, डॉ बाबूलाल चौधरी, डॉ सुरेश सुंदेशा, डॉ दीपक राघव, डॉ रोहित परमार, डॉ दिनेश परमार, डॉ प्रदीप, डॉ अनुराग गुप्ता सहित बड़ी सं2या में चिकित्सक मौजूद थे। जांगिड ने बताया कि हड़ताल के दौरान स्थानीय राजकीय अस्पताल में आयुर्वेद चिकित्सक प्रियंका सहित चिकित्सको द्वारा सेवाएं दी गई।


Leave a comment