विभिन्न मांगों को लेकर किसानों का महापड़ाव रानीवाड़ा में कल

जागरूक टाइम्स 377 Aug 17, 2018

रानीवाड़ा @ जागरूक टाइम्स

किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर किसानों का जिला स्तरीय महापड़ाव कस्बे के सरकारी अस्पताल के सामने खेल मैदान में रविवार को होगा। राजस्थान किसान संघर्ष समिति जालोर के जिला संयोजक विक्रमसिंह पुनासा एवं ब्लॉक अध्यक्ष दीपाराम विश्नोई ने प्रेस वार्ता कर जिला स्तरीय महापड़ाव का ऐलान किया है। जिला संयोजक विक्रमसिंह पुनासा ने कहा कि देश एक है, किसान एक है। नेता वोट लेते समय तो किसानों का हित पूरा करने की बात करते है, लेकिन बाद में मुकर जाते हैं।

यह भी पढ़े : Big breaking : जालोर में प्रेमी जोड़े ने रेल से कटकर जान दी 

उन्होंने कहा कि सरकार की हठधर्मिता की वजह से ही किसान आत्महत्या करने के लिए मजबूर है। रानीवाड़ा ब्लॉक अध्यक्ष दीपाराम विश्नोई ने बताया कि राजस्थान किसान संघर्ष समिति जालोर के आह्वान पर रानीवाड़ा में किसान सम्मेलन का आयोजन कर अपनी विभिन्न मांगों को लेकर राज्य एवं केन्द्र सरकारों को ज्ञापन दिया जाएगा। किसानों ने सरकार के खिलाफ विरोध का बिगुल बजा दिया है। जिला स्तरीय इस महापड़ाव में जिले के विभिन्न हिस्सों से किसान भाग लेगें।


ये हैं किसानों की मांगें 

राजस्थान किसान संघर्ष समिति ब्लॉक अध्यक्ष दीपाराम विश्नोई ने बताया कि रानीवाड़ा में आयोजित जिला स्तरीय किसान सम्मेलन में जालोर जिले को 2011 में डार्क जोन घोषित किया, लेकिन ग्रे जोन बनाने के लिए सरकार द्वारा कोई योजना नहीं लाई गई। वहीं मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सुराज संकल्प यात्रा के दौरान किसानों की वाजिब मांग को देखते हुए माही बजाज सागर परियोजना को मूर्तरूप देने के लिए अपने चुनावी घोषणा पत्र में किसानों से वादा किया था कि माही परियोजना पर कार्यवाही करके माही का पानी जालोर-सिरोही, बाड़मेर को दिया जाएगा, लेकिन इस वादे पर मुख्यमंत्री असफल रही। 

यह भी पढ़े : भंवरी हत्याकांड के आरोपी विशनाराम के गुर्गे को हथियारों सहित पकड़ा 

उन्होंने कहा कि रानीवाड़ा क्षेत्र में सिंचाई के लिए नर्मदा नहर का सर्वे करवाकर अविलम्ब सिंचाई के लिए जल उपलब्ध करवाने, पेयजल के लिए नर्मदा प्रोजेक्ट को अतिशीघ्र पूरा करने, जिले को डार्क जोन से हटाकर किसानों को ट्यूबवेल बनाने के लिए छूट देकर उस पर सरकार द्वारा सबसीडी देने, सरकार द्वारा ऋण माफी में बरती अनियमितता में सुधार करने, 2015 व 2017 में हुई अतिवृष्टि से हुए किसानों के नुकसान का सही आंकलन कर उचित मुआवजा देने एवं तारबंदी योजना के मापदण्डों में संशोधन करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर कल रविवार को किसानों का महापड़ाव होगा। प्रेसवार्ता के दौरान जिला प्रवक्ता हरिराम विश्नोई, भगवाना राम, जवानाराम देवासी, प्रवीण राजगुरु सहित कई पदाधिकारी उपस्थित थे।

ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे ...

Leave a comment