डिस्कॉम कार्मिकों व पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमला, सात गिरफ्तार

जागरूक टाइम्स 1806 Jun 30, 2018

बागोड़ा @ जागरूक टाइम्स

उपखंड क्षेत्र के राह गांव में जिला कलेक्टर के निर्देश पर ४०० केवी विद्युत लाइन के टॉवर लगाने गए डिस्कॉम कार्मिकों व पुलिसकर्मियों पर एक परिवार के लोगों ने जानलेवा हमला बोल दिया। हमले में आठ पुलिसकर्मियों को मामूली चोटें आई हैं, जिनमें दो महिला पुलिसकर्मी भी शामिल है। घटना के समय उपखंड अधिकारी व तहसीलदार के अलावा डिस्कॉम के अधिकारी भी मौजूद थे। फिलहाल, पुलिस ने सात आरोपियों को राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने पर गिरफ्तार किया है।

ट्रैक्टर चलाकर किया हमला

थानाधिकारी प्रेमसिंह ने बताया कि टॉवर खड़ा करने के लिए जिला कलक्टर बीएल कोठारी के निर्देश पर कार्यवाहक एसडीएम मुरारीलाल शर्मा, तहसीलदार शंकराराम गर्ग, डिस्कॉम अधीशासी अभियंता के. गजराल, सहायक अभियंता हरितपालसिंह, नायब तहसीलदार हेमाराम चौधरी पुलिस जाप्ते व डिस्कॉम कार्मिकों को लेकर हयात खान पुत्र हलीम खा मुसलमान के खेत पहुंचे थे।

इस दौरान परिवार की महिलाओं व पुरुषों ने पोल लगाने से मना करते राजकार्य मे बाधा उत्पन्न करने लगे। प्रशासन की ओर से इन लोगों को काफी देर तक समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे मानने को तैयार नहीं हुए।

बाद में एक युवक ने खेत मे खड़े पुलिसकर्मियों व डिस्कॉम कार्मिकों को जान से मारने के लिए टै्रक्टर चलाते हमला कर दिया। जबकि महिलाओं एंव अन्य परिजन कुल्हाड़ी व लाठियों से मारने के लिए दौड़े। इस दौरान झड़प में आठ पुलिसकर्मियों को मामूली चोटें पहुंची। इस अफरातफरी मे नीम के पेड की ओट लेकर अधिकारियों व पुलिस के जवानों ने अपनी जान बचाई।

सात जनों को गिरफ्तार किया

पुलिस ने राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने व जानलेवा हमला करने पर सात जनों के विरुद्ध डिस्कॉम सहायक अभियंता हरितपालसिंह की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज किया है। इसके बाद राह निवासी रमजान खान पुत्र हयात खान, दाउद खान पुत्र हयात खान, सिकंदर खान पुत्र हयात खान व चार महिलाओं समेत सात जनो को गिरफ्तार किया गया है। हमले में प्रयुक्त टै्रक्टर, तीन धारदार कुल्हाड़ी एव चार लाठियां बरामद की गई है।

सातों आरोपियों को शनिवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। इससें पूर्व रमजान खान, दाउद खान, सिकंदर खान व हयात की पत्नी एवं अन्य महिलाओं को शांतिभंग में गिरफ्तार किया था। जिन्हें तहसीलदार शंकराराम गर्ग के समक्ष पेश करने पर नेक चलनी मे पाबंद करते जमानत पर रिहा किया गया। इसके बाद उन्हें पुन: राजकार्य में बाधा डालने व जानलेवा हमले के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया।

यह है मामला

बाड़मेर से भीनमाल जा रही 400 केवी विद्युत लाइन राह गांव से गुजर रही है, लेकिन हयात खान व उसका परिवार एक साल से अपने खेत में लाइन के टावर लगाने से मना कर रहा था। इसको लेकर उपखंड अधिकारी, तहसील, अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा पुलिस भी उन्हें उचित मुआवजा दिलाने व बिजली कनेक्शन आदी का आश्वासन देकर कई बार समझाइश कर चुके हैं, लेकिन यह लोग इसके लिए साफ तौर पर मना कर रहे थे।

इससे विवाद की स्थिति पैदा हो रही थी।आखिरकार जिला कलेक्टर बीएल कोठारी के निर्देश पर शुक्रवार को उपखंड अधिकारी, तहसीलदार, डिस्कॉम के अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता व पुलिस उप निरीक्षक प्रेमसिंह मय जाप्ता के टॉवर लगवाने गए थे। इसी दौरान यह विवाद हुआ।

Leave a comment