महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, पीहर पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप

जागरूक टाइम्स 3368 Aug 3, 2018

- ससुराल पक्ष ने कहा फंदा लगाकर की आत्महत्या

बागोड़ा @ जागरूक टाइम्स

क्षेत्र के नया चैनपुरा मे गुरुवार को एक महिला की रहवासी ढाणी पर बने आवास में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में पीहर पक्ष ने दहेज प्रताडऩा व हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया है। इस सम्बंध में पुलिस ने मृतका के पिता की रिपोर्ट पर दहेज के लिए प्रताडि़त कर साजिश के तहत हत्या का ससुराल पक्ष के तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। जबकि ससुराल पक्ष का दावा है कि पुत्रवधु ने रस्सी गले में डालकर आत्महत्या की है। इस बीच, पुलिस ने शुक्रवार को कार्यपालक मजिस्ट्रेट व उप अधीक्षक की मौजूदगी में शव का राजकीय चिकित्सालय बागोड़ा में मेडिकल बोर्ड से पीएम करवा शव दाह संस्कार के लिए ससुराल पक्ष को सुपुर्द कर लिया है। वहीं मामले की जांच भीनमाल उप अधीक्षक हुकमाराम कर रहे है।

यह भी पढ़े : प्रेम प्रसंग के चलते युवक की हत्या, छह लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज 

थानाधिकारी प्रेमसिंह पडियार ने बताया कि सोबड़ावास निवासी कानाराम पुत्र उकाराम देवासी ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उसकी पुत्री लीला (20) की शादी चैनपुरा निवासी दीपाराम पुत्र कासबाराम के साथ करीब डेढ़ साल पहले हुई थी और साठा में मेरे पुत्र उमाराम की शादी कासबाराम देवासी की पुत्री छगन के साथ हो रखी है, लेकिन मेरी पुत्री लीला को गुरुवार शाम करीब दहेज के लिए उसके पति दीपाराम, ससुर कासबाराम पुत्र अमराजी व सास लीलु देवी ने षड्यंत्र रचकर प्रताडि़त किया और रस्सी का फंदा गले में डालकर मार डाला। इस मामले में ससुराल पक्ष के लोगों ने आरोप लगाया है कि पुत्रवधु लीला ने खेत की रहवासी ढाणी मे बने मकान में जाकर रस्सी से फांसी लगाकर आत्महत्या की है। उस समय ससुर कासबाराम मिर्ची का रोप लेने गया था और उसकी पत्नी लीलु सामान की खरीद के लिए गई थी। मृतका पुत्र दीपाराम मुम्बई में नौकरी के लिए गया हुआ था।

यह भी पढ़े :  निम्बला गांव में फायरिंग के मुख्य आरोपी रघुवीरसिंह सहित चार जनों ने किया सरेंडर 

मेडिकल बोर्ड से करवाया पोस्टमार्टम

संदिग्ध परिस्थितियों में महिला की मौत की जानकारी मिलने पर थानाधिकारी प्रेमसिंह मय जाप्ता रात्रि को ही घटनास्थल पर पहुंचे ओर साक्ष्य जुटाकर महिला की लाश कब्जे में ली। शव को रात में ही राजकीय चिकित्सालय बागोड़ा ले जाकर मोचर्री मे रखवाया गया। शुक्रवार को कार्यपालक मजिस्ट्रेट भागीरथराम विश्नोई, उप अधीक्षक हुकमाराम व दोनों पक्षों की मौजूदगी में मेडिकल बोर्ड के सदस्य डॉ. अनिल विश्नोई धुम्बडिय़ा, डॉ. दिनेश कुमार विश्नोई सेवड़ी व डॉ. महेश बालेसा धुम्बडिय़ा से पोस्टमार्टम करवाया। इसके बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए ससुराल पक्ष को सुपुर्द किया गया। वहीं पुलिस उप अधीक्षक हुकमाराम व कार्यपालक मजिस्ट्रेट भागीरथराम विश्नोई ने मौके पर जाकर जानकारी जुटाई। इस दौरान पीहर पक्ष के भी लोग साथ थे।

संदिग्ध मौत को लेकर लगते रहे कयास

कस्बे के आदर्श राजकीय चिकित्सालय में शुक्रवार सुबह पोस्टमार्टम के दौरान क्षेत्र से देवासी समाज के लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई। इस दौरान कस्बे सहित आसपास से बड़ी तादाद में लोग भी पहुंचे। अस्पताल में मौजूद लोग घटना को लेकर कानाफूसी करते नजर आए। विवाहिता की मौत को लेकर हत्या या आत्महत्या को लेकर तरह-तरह के कयास लगते रहे।

Leave a comment