कांग्रेस 10 सितम्बर को पेट्रोल पंपों के बाहर भी करेगी धरना , पढि़ए भारत बंद से जुड़ी पूरी खबर...

जागरूक टाइम्स 411 Sep 8, 2018

- भारत बंद को लेकर प्रेसवार्ता आयोजित
जालोर। कांग्रेस १० सितम्बर को भारत बंद करने जा रही है। इस बार पेट्रोल पंपों के बाहर भी कांग्रेस की ओर से धरना स्थल तय किया गया है। वहां पर लोगों को पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों के साथ बढ़ती महंगाई के बारे में समझाया जाएगा। वहीं कई स्थानों पर प्रोजेक्टर के माध्मय से भी लोगों को केन्द्र की गलत नीतियों के बारे में जानकारी दी जाएगी। यह बात कांग्रेस के जिला प्रभारी सोमेन्द्र गुर्जर और कांग्रेस जिलाध्यक्ष समरजीतसिंह राठौड़ ने जिला मुख्यालय पर राजीव गांधी भवन में शनिवार को पेट्रोल डीजल व रसोई गैस की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि तथा निरंतर बढ़ती महंगाई के विरोध में १० सितम्बर को कांग्रेस के भारत बंद को लेकर आयोजित प्रेसवार्ता में कही। जिसमें कांग्रेस जिलाध्यक्ष समरजीतसिंह ने कहा कि भाजपा सरकार की गलत आर्थिक नीतियों और कमरतोड़ महंगाईके विरोध में भारत बंद किया जाएगा। जिसमें सभी व्यापारिक संगठनों, संस्थाओं और प्रतिष्ठानों से बंद में सहयोग के लिए अपील की जाएगी। साथ ही बंद के दौरान लोगों को केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के बारे में जागरूक किया जाएगा। कांग्रेस जिला प्रभारी सोमेन्द्र गुर्जर ने कहा कि कांग्रेस लोगों को केन्द्र सरकार की हकीकत के बारे में बताएगी। सरकार लोगों के साथ धोखा कर रही है। जब उनसे बार-बार बंद होने और लोगों के परेशान होने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में बंद रखना विरोध का एक माध्यम से है। हमारा उद्देश्य जनता को परेशान नहीं करना है। इस बार बंद के दौरान कोई आक्रोश रैली या ज्ञापन नहीं दिया जाएगा। साथ ही रोड़ जाम करना या लोगों को परेशान करना कांग्र्रेस का उद्देश्य है। यह सांकेतिक विरोध होगा, ताकि जनता को यह पता चले कि पेट्रोल डीजल समेत सभी सामानों में कीमतें लगातार बढ़ रही है। वहीं कमरतोड़ महंगाईके कारण गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों का जीना दुभर हो गया है। पूर्व विधायक रतन देवासी ने कहा कि केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के कारण लघु और मध्यम वर्गके व्यापारियों के उद्योग धंधे चौपट हो गए हैं। ऐसे में भारत बंद कर सरकार को चेताया जा रहा हैऔर लोगों को जागरूक किया जा रहा है।
कांग्रेस कार्यकर्ताओं से भारत बंद सफल बनाने को लेकर हुआ मंथन
राजीव गांधी भवन में १० सितम्बर को होने वाले भारत बंद को लेकर जिला कांग्रेस जालोर ने शनिवार को बैठक की और कार्यकर्ताओं से बंद की व्यापारिक प्रतिष्ठानों और संस्थानों के पदाधिकारियों से अपील करने का कहा। बैठक के दौरान पदाधिकारियों ने अपने-अपने विचार भी रखे। बंद को लेकर नौसितम्बर तक सभी लोगों तक संदेश पहुंचाने को लेकर रणनीति भी बनाईगई। कांग्रेस प्रदेश सचिव जगदीश चौधरी, पीसीसी सदस्य सवाराम पटेल, एआईसीसी सदस्य जितेन्द्र कसाना, पूर्व जिला प्रमुख मंजू मेघवाल, कांग्रेस महासचिव कल्याणसिंह बोकड़ा, जालोर ब्लॉक अध्यक्ष जवानाराम परिहार, भाद्राजून ब्लॉक अध्यक्ष लादूराम चौधरी, आहोर ब्लॉक अध्यक्ष बस्तीमल, सायला ब्लॉक अध्यक्ष अजीतसिंह, खनन प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष लालसिंह धानपुर, प्रवक्ता योगेन्द्रसिंह कुंपावत, जिला सचिव सरोज चौधरी, नेनाराम माली, युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष लक्ष्मण सांखला, पन्ने सिंह पोषाणा, आमसिंह, पार्षद देवाराम सांखला, विनय व्यास, धीरज गुर्जर, ओबीसी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष हुकमीचंद माली, कांगे्रस नेता सोमाभाई सरगरा, सेवादल के अध्यक्ष वीरेन्द्र जोशी, पुखराज माली, भारमल, आईटी सेल के इबाल खान, अमिन मोयला, सलीम मोयला, महेन्द्र सोनगरा, भरत सुथार, नारायणलाल, बसंत सुथार, पुनमाराम सांखला समेत कांग्रेस के कई नेता उपस्थित थे।
ना देंगे ज्ञापन और ना करेंगे आक्रोश रैली
कांग्रेस के पदाधिकारियों ने बैठक और प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि बंद के दौरान किसी को परेशानी नहीं हो, इसका ख्याल रखेंगे। एक दिन पहले और बंद के दौरान लोगों से हाथ जोडक़र निवेदन किया जाएगा कि वे सहयोग करें। बंद के दौरान ज्ञापन भी नहीं जाएगा। साथ ही आक्रोश रैली भी नहीं की जाएगी। ताकि लोगों को परेशानी नहीं हो।
बंद को लेकर आशंकित भी लगे कांग्रेसी, विरोध का यही विकल्प होने की बात भी स्वीकारी
प्रेसवार्ताके दौरान कांग्रेस नेताओं से जब बार-बार भारत बंद होने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने जवाब दिया कि कांग्रेस ने बार-बार बंद नहीं किया और लोकतंत्र में विरोध के लिए बंद भी एक माध्यम है। इसके लिए भारत बंद का आयोजन किया गया है। हालांकि उनके चेहरों से साफ नजर आ रहा था कि वे लगातार हो रहे बंद को लेकर आशंकित जरूर है। इसके चलते ही बैठक में बंद को सफल बनाने के लिए कार्यकर्ताओं को काफी मुस्तैदी से जिम्मेदारियां सौंपी गई।




Leave a comment