भारतीय किसान संघ ने बागोड़ा में शुरू किया बेमियादी धरना

जागरूक टाइम्स 437 Aug 13, 2018

- किसानों की विभिन्न मांगों पर गौर नही करने तक अनवरत रहेगा धरना 

- सरकार की गौरव यात्रा का भी होगा विरोध

बागोड़ा @ जागरूक टाइम्स

भारतीय किसान संघ ने किसानों की वाजिब मांगों को लेकर सोमवार से उपखंड मुख्यालय के सामने जोधपुर प्रांत प्रमुख गणेशाराम चौधरी व तहसील अध्यक्ष चंदनसिंह गोलियां के नेतृत्व में बेमियादी धरना का बिगुल बजाया। इस दौरान जिला कलक्टर के नाम किसानों ने ज्ञापन सौंपा।      

किसान संघ प्रांत प्रमुख गणेशाराम चौधरी ने बताया कि सरकार उनकी जायज मांगों पर गौर नहीं करेगी, तब तक किसानों का अनिश्चितकालिन धरना जारी रहेगा और जिले में गौरव यात्रा का विरोध करेंगे।                                                                       ज्ञापन में बताया है कि बागोड़ा व सायला उपखंड क्षेत्र के कई गांवों में केमिकल मिले कपड़ों की अवैध धुलाई हो रही है। साठगांठ के चलते अवैध फैक्ट्रियों पर कोई प्रशासनिक अंकुश नहीं लग रहा हैै। जिससे ने धरतीपुत्रों की खेतीहर जमीन बंजर हो रही है और रसायनिक पानी का पुनर्भरण से कुओं का जल दूूषित हो रहा हैै। साथ ही फसलों पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है तथा पीने योग्य पानी नहीं रहा। क्षेत्र में हो रहे इस अवैध कारोबार से किसान आहत हैं। जबकि माननीय उच्च न्यायालय ने बाकायदा अवैध कपड़ों की फैक्ट्री के संचालन पर रोक लगा रखी है। किसानों के बेरों पर जाकर नकली खाद बेचने वाले लोग अशिक्षित होने का फायदा उठाकर असली खाद की जगह नकली खाद देकर मालामाल हो रहे हैं। जिन्हें इस क्षेत्र में प्रतिबंधित कर गिरफ्तार किया जाए। सरकार किसानों को को-आपरेटिव सहकारी समिति में कर्जदार किसानों के 50 हजार रुपए तक कर्जमाफी कर रही है, लेकिन इस ऋणमाफी में फसली बीमा की राशि सम्मिलित है जबकि उसे कर्जमाफी से अलग रखा जा रहा है। वहीं पंडित दीनदयाल उपाध्याय विद्युत योजना में किसानों की पत्रावलियों का डिस्कॉम में डिमांड राशि भरने के एक साल बाद भी बिजली कनेक्शन नहीं दिए जा रहे हैं। उन्हें कनेक्शन शीघ्र दिलाने व बीपीएल परिवारों के घरेलू कनेक्शन मुहैया करवाए जाए। बेमियादी धरना में पहले दिन नरींगाराम मोरसीम, खंगाराराम जाट, बाबुराम, भेराराम रंगाला, जानुराम वाटेरा, रुपाराम चैनपुरा, दिपाराम मोरसीम, सताराम, हीराराम जाट समेत खासे किसान उपस्थित रहे।                      

इन्होंने कहा...

जिला मुख्यालय जालोर के कलेक्ट्रेट के सामने 24 जनवरी 2016 को किसानों का महापड़ाव हुआ था। जिसमें जालोर जिला डार्क जोन होने से फसलों की सिंचाई के लिए मुख्य पानी की मांग थी। इस दौरान नर्मदा सिंचाई क्षेत्र का विस्तार करने व सर्वे करवाने, माही बजाज सागर परियोजना से जिले को जोड़कर कार्य शुरू करने तथा जवाई बांध का भरण एवं पूर्व सर्वे के अनुसार जालोर जिले को जवाईबांध से सिंचाई में ड़ जोड़ने का आश्वासन दिया था, लेकिन आज तक इस पर अमल नहीं हो रहा है। उससे हताश होकर आगामी दिनों में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा का विरोध करेंगे। साथ ही उन्हें जालोर जिले मे घुसने तक नहीं देंगे।

- गणेशाराम चौधरी, प्रांत प्रमुख, भारतीय किसान संघ

क्षेत्र में जब तक अवैध केमिकल कपड़ों की धुलाई के लिए लगी अवैध फैक्ट्रियों पर कार्यवाही कर रोका नहीं जाता और नकली खाद बेचने वालों की गिरफ्तारी नहीं होती, तब तक यह अनिश्चितकालिन धरना शुरू रहेगा। उन्होंने मांग की कि किसानों के ऋण राशि में फसली बीमा राशि नहीं जोड़ी जाए और भुगतान सीधे बैंक खातों में किया जाए।

- चतराराम, जिला उपाध्यक्ष, भारतीय किसान संघ, जालोर

Leave a comment