बागोड़ा : कैमिकलयुक्त कपड़ों की अवैध धुलाई, खेत खराब होने से परेशान किसान

जागरूक टाइम्स 218 Jul 20, 2020

रिड़मलदान राव बागोड़ा। उपखंड क्षेत्र के कई गांवों में रसायन मिले कपड़ों की अवैध धुलाई की फैक्ट्रियों से खेत खराब होने से किसान आक्रोशित है। बंजर होती कृषि भूमि को बचाने के लिए किसानों ने पूर्व में कई बार प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन सौंपकर अवैध फैक्ट्रियों के खिलाफ कार्यवाही करने की गुहार लगाने के बावजूद संचालन जारी है। उपखंड मुख्यालय से 14 किमी दूर खोखा गांव में खेतलावास जाने वाले मार्ग पर लम्बे अर्से से यहा के कुछ किसानों द्वारा अवैध फैक्ट्री लगाकर उनके खेत में कैमिकल मिले कपड़ों के थानों की अवैध रुप से धुलाई की जा रही है, यह कपड़े बालोतरा से यहा वाहनों में चोरीछिपे लाए जाने के बाद दिन व रात्रि में मजदूरों द्वारा उनकी धुलाई की जाती है।

धुलाई के पानी में मिला रसायन खुद व आसपास के खेतो मे सोखने से जमीन बंजर हो रही है। किसानों ने पटवारी से लेकर जिला कलक्टर तक को ज्ञापन सौप कर बंजर होती खेतो की जमीन को बचाने के लिए अवैध फैक्ट्रियों को बंद करवाने की गुहार लगाई गई है उसके बाद भी स्थानीय पटवारियों व तहसील प्रशासन की सह पर यह गौरखधंधा बदस्तूर चल रहा है। खोखा गांव में अवैध फैक्ट्री संचालन को लेकर प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही नही करने से हताश किसानों ने अब खुद बिड़ा उठाया है और दो दिन में इन फैक्ट्रियों से अवैध कैमिकलयुक्त कपड़ों की रात्रि में धुलाई करने के पश्चात सवेरे बालोतरा जा रहे गीले कपड़ों के थानों से भरे वाहनों को सड़कों पर रुकवाकर पटवारी व पुलिस को मौके पर बुलाकर उनके हवाले कर रहे है। तहसील प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही नही करना संदेश पैदा कर रहा है जबकि पुलिस एमवी एक्ट में वाहन जब्ती की कार्रवाई तक ही सिमित है। यही हाल जैसावास व कोरी ध्वैशा गांव में भी है।

बेरों मे पानी का बदल रहा है स्वाद
किसानों ने बताया कि कैमिकल मिले कपड़ों की धुलाई का पानी खेतो मे जमीदोंज होने से फसलों की पैदावार घट रही है। वही फसलों की सिचाई के उपयोग में लिया जा रहा बेरों का पानी का स्वाद खराब होने से उनालू बाजरा, इसबगोल, जीरा समेत अन्य फसलों की उपज कम होने से कृषि कार्य घाटे का सौदा साबित हो रहा है।

कृषि बिजली का उपयोग व्यावसायिक
डिस्कॉम विभाग की अनदेखी के चलते खोखा, जैसावास व कोरी ध्वैशा मे खातेदारी खेतो मे फसलों की सिचाई के लिए किसानों ने कृषि कनेक्शन ले रखें है लेकिन विभागीय जांच नही होने से खोखा मे तीन, जैसावास मे एक, कोरी ध्वैशा मे कुछ किसानों द्वारा नियम कायदे ताक पर रखकर अवैध रुप से कृषि बिजली का उपयोग अवैध फैक्ट्री में कपड़ो की धुलाई मे किया जा रहा है।


Leave a comment