किसान महासम्मेलन की तैयारियां जोरों पर, भाजपा के साथ पुलिस-प्रशासन चिंतित

जागरूक टाइम्स 204 Aug 23, 2018

भीनमाल @ जागरूक टाइम्स

मुख्यमंत्री द्वारा आयोजित गौरव यात्रा के आगामी 31 अगस्त को जालोर आगमन के दौरान किसानों के साथ किए वादों की याद दिलाने और किसानों की शक्ति का अहसास करवाने के लिए राजस्थान किसान संघर्ष समिति की ओर से आगामी 31 अगस्त को भीनमाल उपखंड मुख्यालय पर आयोजित जिला स्तरीय किसान महासम्मेलन के तहत बुधवार को राजस्थान किसान संघर्ष समिति की बैठक राप्रावि कावाखेडा (दांतीवास) में आयोजित हुई। जिसमें सम्मेलन को सफल बनाने को लेकर रणनीति बनाई गई। इस दौरान कार्यकर्ता को अलग-अलग जिम्मेदारिया भी सौंपी गई।

यह भी पढ़े : दादर-बीकानेर ट्रेन अब प्रतिदिन चलेगी 

समिति के संयोजक विक्रमसिंह पुनासा ने बताया की कार्यक्रम के तहत आगामी 24 अगस्त को बागोड़ा उपखंड मुख्यालय व 27 अगस्त को रामसीन तहसील मुख्यालय पर तहसील स्तरीय किसान सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। जिसमें सम्मेलन की सफलता को लेकर रणनीति बनाई जाएगी। किसान नेता विक्रमसिंह पुनासा ने बताया कि गत विधानसभा चुनावों में सीएम द्वारा किसानों के साथ माही-बजाज परियोजना पर अमल करवाने, जालोर व सिरोही जिले को डार्क जोन से मुक्त करने और नर्मदा का पानी क्षेत्रवासियों को उपलब्ध करवाने सहित किसानों की उन्य समस्याओं के निराकरण का वादा किया था, लेकिन करीब साढे़ चार साल से अधिक समय गुजरने के बावजूद सरकार द्वारा किसानों की समस्याओं का निराकरण नहीं करने की वजह से किसान स्वंय को ठगा सा मेहसूस कर रहे हैं। 

जिसको लेकर किसानों में भारी आक्रोश व्याप्त है। पुनासा ने बताया कि किसानों के साथ किए गए वादों की याद दिलाकर अमल करवाने के लिए आगामी 31अगस्त को भीनमाल उपखंड मुख्यालय पर जिला स्तरीय महासम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। जिसमें जालोर, सिरोही, बाड़मेर व पाली जिले से किसान बड़ी संख्या में भाग लेंगे। इस अवसर पर भीनमाल तहसील उपाध्यक्ष भागीरथ सारण, रामकिशन सारण, अमराराम ढाका, आसूराम भील, राजुराम, बगदाराम, जेताराम, पुनमाराम पालड़िया, कोलाराम, हड़मताराम पुरोहित, भगवानराम सारण, फगलूराम भील व भारमल ढाका सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद रहे। 

यह भी पढ़े : सर्पदंश से घायल पांच लोग अस्पताल में भर्ती 

भाजपाई परेशान और पुलिस-प्रशासन चिंतित

राजस्थान किसान संघर्ष समिति द्वारा आगामी 31अगस्त को भीनमाल उपखंड मुख्यालय पर किसान महासम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। उसी दिन सीएम की गौरव यात्रा भी जालोर जिले से गुजरेगी। विधानसभा चुनाव नजदीक होने की वजह से भाजपाई भी परेशान नजर आ रहे हैं। यदि किसान महासम्मेलन सफल होता है तो आगामी विधानसभा चुनावों में इसका खामियाजा सत्ताधारी दल को भुगतना पड़ सकता है।

महासम्मेलन के दौरान कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को भी चिंता सताने लगी है। महासम्मेलन शांतिपूर्वक सफल करवाने के लिए पुलिस व प्रशासन के आला अधिकारी किसान नेताओं से लगातार संपर्क में है और उन्हें लोकतंत्र के दायरे में रहकर कार्यक्रम का आयोजन करने की गुजारिश की जा रही है। हालांकि महासम्मेलन के आयोजन को लेकर अभी तक प्रशासनिक स्विकृति मिलना बाकी है।

ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो करे फेसबुक | इंस्टाग्राम  | ट्विटर 


Leave a comment