परमिट की आड़ में शराब तस्करी का गोरखधंधा, 120 कार्टन देसी शराब के साथ दो आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े

जागरूक टाइम्स 563 Jul 28, 2018

भीनमाल @ जागरूक टाइम्स

भीनमाल पुलिस ने शुक्रवार रात सरहद चाटवाड़ा में देसी शराब के लाइसेंसधारियों की ओर से परमिट की आड़ में शराब तस्करी के गोरखधंधे का भंडा फोड़ 120 कार्टन देसी शराब बरामद कर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। जबकी 82 कार्टन वैध देसी शराब को पुलिस थाना में रखवाया गया। । भीनमाल पुलिस की रिपोर्ट पर करड़ा पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच प्रारंभ कर दी। परमिट की आड़ में अवैध शराब तस्करी के विरुद्ध पुलिस की कार्रवाई से इस कारोबार से जुड़े लोगों में खलबली मच गई है। 


पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा के निर्देशानुसार अवैध शराब व मादक पदार्थों की तस्करी ओर अपराधों की रोकथाम के लिए जिलेभर में संचालित अभियान के तहत शुक्रवार शाम करीब पांच बजकर 40 मिनट पर भीनमाल थानाधिकारी कैलाशचंद मीणा के निर्देशन में एसआई शेराराम जाट, एएसआई कुदंनसिंह देवड़ा, हैड कांस्टेबल प्रेमाराम चौधरी व हंसाराम मीणा, कांस्टेबल बुद्धाराम व गलबाराम मय दल ने क्षेंमकरी माता सर्किल (करड़ा चार रास्ता) पर नाकाबंदी की। इस दौरान गुजरात पासिंग का बोलेरो पिकअप ट्रोला भीनमाल शहर से करड़ा की तरफ निकला, जिसमें शराब भरी हुई थी।

पुलिस को संदेह होने पर उसका पीछा कर सरहद चाटवाड़ा में पिकअप ट्रोले को रुकवाकर चालक मालियों का गोलिया केसूरी(सरवाना) निवासी जगदीश कुमार(30)पुत्र विरमाराम माली व उसके पास बैठे सरवाना निवासी सबलसिंह (32)पुत्र सरदारसिंह राजपूत से पूछताछ की। पूछताछ में उन्होंने शराब परमिट का होना बताकर भीनमाल आबकारी विभाग के गोदाम से भरना व सेसावा और भाटकी गांव में स्थित शराब की दुकान पर ले जाना बताया। 


परमिट के अनुसार 82 कार्टन की बजाय अधिक होने का संदेह होने पर पुलिस ने तस्दीक के लिए शराब से भरे वाहन को पुन: आबकारी कार्यालय भीनमाल के लिए रवाना किया। रास्ते में पीकअप चालक जगदीशकुमार व उसके साथी सबलसिंह ने पुलिस वाहन को रुकवाकर ट्रोले में 120 कार्टन बिना परमिट का देसी शराब का होना स्वीकार किया। इस शराब को करड़ा चार रास्ता भीनमाल स्थित सुरेश मेवाड़ा के शराब के गोदाम से भरना बताया। जिस पर भीनमाल पुलिस ने शराब से भरे पिकअप ट्रोले को पुलिस थाना करड़ा ले जाया गया। रात करीब दस बजे भीनमाल पुलिस ने 120 कार्टन अवैध शराब मय ट्रोला जब्त कर करड़ा पुलिस के हवाले किया। जबकि वैध 82 कार्टन पुलिस थाना में रखवाया गया। जिसे परमिट के आधार पर मालिक को सुर्पुद किया जाएगा।

भीनमाल पुलिस की रिपोर्ट पर करड़ा पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच प्रारंभ की। करड़ा थानाधिकारी गिरधरसिंह ने बताया कि दोनों आरोपियों को न्यायालय के आदेश पर तीन दिन के लिए पुलिस रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान अवैध शराब की आपूर्ति सहित इस अवैध कारोबार से जुड़े लोगों के बारे में पूछताछ की जाएगी।

दो परमिटधारियों की 82 कार्टन देशी शराब थी 

पुलिस सूत्रों के अनुसार पिकअप ट्रोले में 26 कार्टन शराब अनुज्ञापत्रधारी प्रकाश कंवर पत्नि गणपतसिंह के थे। जिसकी दुकान परमिट के अनुसार होतीगांव, दुठवा, सेसावा व केरिया-सेसावा और शराब रखने का स्थान सेसावा गांव है। इस शराब परिवहन के लिए जगदीश अधिकृत था। वहीं 56 कार्टन देसी शराब अनुज्ञापत्रधारी भगवानसिंह पुत्र कालूसिंह के थे। जिसकी दुकान व शराब रखने का स्थान भाटकी है। इस शराब परिवहन के लिए जगदीश अधिकृत था। 

गुजरात तस्करी का सुगम रास्ता

जानकारी के अनुसार गुजरात में शराब बंदी के चलते गुजरात से सटे जालोर जिले की सीमा से शराब तस्करी का कारोबार पिछले लंबे समय से चल रहा है। हालांकि मौजूदा पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा के जालोर जिले में पदस्थापित होने के बाद अवैध कारोबार पर अंकुश लगा है। बावजूद चोरी छिपे शराब तस्कर पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर शराब तस्करी मेें कामयाब हो जाते हैं। अवैध करोबार से जुड़े लोगों द्वारा पुलिस थाना करड़ा, सांचौर, चितलवाना व सरवाना की सीमा से अवैध शराब की तस्करी को अंजाम दिया जा रहा है। 


तीन दिन के रिमांड पर लिया

शराब के अवैध परिवहन करने के आरोप में गिरफ्तार दोनों आरोपियों को न्यायालय नेे तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेजने के आदेश दिए हैं। रिमांड के दौरान शराब तस्करी से जुड़े अन्य सुराग की जानकारी के लिए पूछताछ की जाएगी।
- गिरधरसिंह, थानाधिकारी, करड़ा

यह भी पढ़े : बहु के साथ दुष्कर्म के आरोपी ससुर को सात वर्ष का कारावास 

संदेह के आधार पर पकड़ा

नाकाबंदी के दौरान संदेह के आधार पर ट्रोले का पीछा कर सरहद चाटवाड़ा में ट्रोले को रुकवाकर चालक से पूछताछ की। जिसमें 120 कार्टन अवैध व 82 कार्टन वैध देसी शराब होने की बात सामने आई। मामले की जांच करड़ा पुलिस कर रही है।                                                                                                 - ----कैलाशचंद मीणा, थानाधिकारी, भीनमाल

सख्ती बरती जा रही है

परमिट की आड़ में अवैध शराब कारोबार का मामला वर्ष के शुरुआत में रानीवाड़ा पुलिस थाने में व दूसरा मामला सरहद चाटवाड़ा में सामने आया है। इस तरह के मामलों में पुलिस द्वारा सख्ती बरती जा रही है।  
- विकास शर्मा, पुलिस अधीक्षक, जालोर

Leave a comment