Rajasthan: पिता ने नाबालिग बेटी से किया दुष्कर्म, जंजीरों में बांधा

जागरूक टाइम्स 413 Dec 2, 2019

बागोड़ा। पुलिस थानान्तर्गत जैसावास गांव में एक चौदह वर्षीय किशोरी को अपने पिता के दुसरी महिला से नाजायज संबध को देखना भारी पड़ गया, अपनी इस करतुत को छुपाने के लिए कलियुगी पिता ने उसकी बेटी के पैर में जंजीर डालकर उसके साथ अमानवीय व्यवहार ही नही सारी हदें पार कर उसी बेटी के साथ ज्यादती कर खुन के रिश्ते को तार तार कर सारी हदें लांग दी, मानवता को सरमसार करने वाली यह घटना शनिवार को पुलिस रिपोर्ट मे सामने आई है। पीडित किशोरी शुक्रवार शाम को अपने पिता के चंगुल से जैसे तैसे कर पैदल ननिहाल कुड़ा ध्वैसा पहुंची ओर पैरों में बंधी जंजीर व उसके साथ पिता द्वारा किए घृणित काम की मामा व रिश्तेदारों को आपबीती सुनाई, शनिवार को रिश्तेदार बागोड़ा पुलिस थाना ले आए और उसके साथ हुई ज्यादती का आरोप लगाते आपबीती सुनाई। पुलिस ने थाने में ही पीडिता की जंजीर काटकर पैर मुक्त करवाया। पीडित किशोरी के रिश्तेदार ने आरोप लगाते पुलिस को रिपोर्ट पेश कर अपनी भाणजी के साथ हुए इस अमानवीय कृत्य पर कानूनी कार्रवाही की गुहार लगाई है। पुलिस ने पोस्को एक्ट समेत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जाच शुरु की है।

थानाधिकारी गिरधरसिंह ने बताया कि कुड़ा ध्वैसा निवासी पारसाराम पुत्र गैनाजी जाति मेघवाल ने इस आछय की रिपोर्ट पेशकर आरोप लगाया है कि 29 नवम्बर 2019 को शाम करीब 5 बजे उसकी नाबालिग भाणजी उम्र 14 वर्ष निवासी जैसावास रोते बिलखते पैदल उसके खेत मे रहवासी मकान पर आई, उस दौरान एक पैर में लोहे की जंजीर बंधी हुई थी और बिलखते हुए मुझे बताया कि मेरा पिता अजाराम पुत्र रावताराम जाति मेघवाल निवासी जैसावास जो 10 दिनों से घर में पैरों में लोहे की जंजीर के ताले लगाकर जबरदस्ती बाधकर रखता था और रोजाना रात्रि में दादी के पास नही सुलाकर खुद के पास जमीन पर सुलाकर जबरदस्ती करता है। नाबालिग बालिका ने आरोप लगाया है कि उसकी माता को 7 वर्ष पूर्व पिता ने घर से निकाल दिया था उसने भी दुसरी शादी कर दी।

अवैध संबध का पिता पर आरोप
नाबालिग पुत्री ने अपने पिता अजाराम का उसी परिवार की एक महिला के साथ नाजायज अवैध संबध होने का आरोप लगाते हुए कहा की उसका कसूर सिर्फ इतना था कि पिता व महिला को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था, इस गुनाह को छुपाने के लिए पिता अजाराम व परिवार की वह महिला दोनो ने मिलकर लोहे की जंजीर से नाबालिग के दोनो पाव बांधकर ताला लगाकर बंधक बना कर रखता था।

रात्रि में पास सुलाकर करता था ज्यादती का आरोप
पुलिस रिपोर्ट में कुड़ा ध्वैसा निवासी पारसाराम ने आरोप लगाया है कि उसकी नाबालिग भाणजी ने उसे यह भी बताया कि उसका कलियुगी बाप रात्रि में दादी के पास नही सुलाकर उसके पास जमीन पर सुलाता और जबरदस्ती खोटा काम करता था। रिपोर्ट में बताया है कि उसकी भाणजी अपने पिता से किसी तरह बचकर एक पैर की जंजीर तोड़कर यहा आई है। एक डेढ घंटे बाद जैसावास निवासी त्रिकमाराम पुत्र रावताजी व धोपो देवी पत्नी रावताराम जाति मेघवाल दोनो मेरे खेत मे बने मकान पर भाणजी को लेने पहुंचे, लेकिन नाबालिग ने उसके साथ हुए अमानवीय कृत्य के डर से उनके साथ जाने से मनाकर दिया जिससे धमकी दे गांव को लोट गए।

पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मुकदमा सख्या 158/19 धारा 376 ( डीए) 342, 323/34 व 3/4 पोस्को एक्ट मे पंजिबद कर जांच शुरु की है। वही ज्यादती का शिकार नाबालिग का मेडिकल प्रशिक्षण करवाया जा रहा है।

शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार बाप
पुलिस ने बताया कि प्रकरण दर्ज करने से पूर्व नाबालिग के ब्यान लेखबद्ध कर पिता अजाराम को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया है और अब मामले का अनुसंधान जारी है।

Leave a comment