सेवाड़ा में एक कोरोना पॉजिटिव मिला, प्रशासन ने पूरे गांव को किया सील

जागरूक टाइम्स 187 May 22, 2020

रानीवाड़ा। रानीवाड़ा उपखंड मुख्यालय के सेवाड़ा में गुरूवार को एक युवक कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासन ने सेवाड़ा गांव की राजस्व सीमा को सील कर कफ्र्यू लगा दिया गया है। उपजिला कलेक्टर प्रकाशचन्द्र अग्रवाल ने बताया कि सेवाड़ा गांव की राजस्व सीमा को सील कर दिया गया है। पॉजिटिव युवक रेबारियों के गोलिए का रहवासी है, जिसे एम्बुलेंस द्वारा जालोर रैफर कर जिला मुख्यालय पर स्थित आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है, जबकि उसके परिवार के सैंपल कलेक्शन किए जा रहे है। वहीं कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आए सभी व्यक्तियों की सूची बनाई जा रही है एवं रहवासी ढाणी में सोडियम ह्यपोक्लोराइड का स्प्रे भी करवाया जा रहा है।

सेवाड़ा के सुप्रसिद्ध धार्मिक तीर्थ पातालेश्वर मंदिर में भी धार्मिक अनुष्ठान बंद रहेंगे, सिर्फ पुजारी ही पूजा पाठ सकेगा। उपजिला कलेक्टर प्रकाशचन्द्र अग्रवाल, तहसीलदार शंकरलाल मीणा, बीसीएमओ डॉ बाबुलाल पुरोहित, थानाधिकारी लालाराम ने सेवाड़ा पहुंचकर गांव के मुख्य मार्गों सहित सभी रास्तों को सील करवाकर गांव में कोरोना पॉजिटिव मिलने को लेकर लोगों को बाहर न निकलने एवं अपने प्रतिष्ठान बंद रखने व अनावश्यक रूप से वाहनों को लेकर नहीं घूमने को लेकर एनाउंस करवाया गया।

सेवाड़ा में कफ्र्यू लागु - रानीवाड़ा उपखंड मजिस्ट्रेट प्रकाशचंद्र अग्रवाल ने रानीवाड़ा उपखंड क्षेत्र के सेवाड़ा ग्राम की राजस्व ग्राम सीमा क्षेत्र में कफ्र्यू लगाने के आदेश जारी किये हैं। आदेश में स्पष्ट किया गया है कि उक्त परिधि क्षेत्र में निवासरत समस्त व्यक्ति अपने आवास से बाहर आवागमन नहीं करेंगे। उक्त ग्रामीण क्षेत्र को जीरो मोबिलिटी क्षेत्र घोषित कर लोकिंग एरिया में जन साधारण के आगमन निर्गमन को प्रतिबंधित कर दिया गया है। उपरोक्त क्षेत्र में अवस्थित चिकित्सकीय सेवाओं को छोड़कर अन्य समस्त व्यावसायिक एवं वाणिज्यिक संस्थान बंद रहेंगे तथा समस्त सामूहिक गतिविधियां रैली, जुलूस, सभा एवं समारोह इत्यादि पूर्णतया प्रतिबंधित रहेंगे।

उपरोक्त क्षेत्र में व्यावसायिक, व्यापारिक प्रतिष्ठानों में दैनिक आवश्यकताओं से संबंधित किराणा एवं जनरल स्टोर इत्यादि एवं सब्जी मंडी आगामी आदेशों तक बंद रहेंगे। उक्त क्षेत्र में समस्त प्रकार के वाहनों के आवागमन पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। आवश्यक व्यवस्थायें बनाए रखने हेतु आवश्यकतानुसार राजकीय अधिकारी व कर्मचारियों के आवागमन के साधन उपयोग में लिये जाने हेतु अधिकृत होंगे। अग्निशमन वाहन, जलदाय, विद्युत, पुलिस एवं प्रशासन, चिकित्सकीय सेवाओं एवं रसद विभाग एवं अन्य आवश्यक सेवाओं से संबंधित अनुमति प्राप्त वाहन प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। पुलिस विभाग द्वारा निर्धारित एंट्री पोईन्ट्स पर चिकित्सा विभाग द्वारा टीम नियुक्त की जायेगी, जिसके द्वारा यह सुनिश्चित किया जायेगा कि बिना स्क्रीनिंग के कोई भी व्यक्ति उक्त क्षेत्र में प्रवेश नहीं करे और न ही उक्त क्षेत्र से बाहर निकले। यह प्रतिबंध बीमार व्यक्तियों एवं चिकित्सा संबंधी आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों पर लागू नहीं होगा। उपखंड मजिस्ट्रेट प्रकाश चंद्र अग्रवाल ने उक्त कफ्र्यूग्रस्त क्षेत्र के सभी निवासियों को आदेशों की पालना करने हेतु पाबंद किया है साथ ही सावचेत भी किया है कि यदि कोई व्यक्ति उपरोक्त प्रतिबंधात्मक आदेशों का उल्लंघन करेगा तो वह भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269, 270 एवं राजस्थान महामारी अधिनियम 1957 तथा आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 के सुसंगत विधित प्रावधानों के अन्तर्गत अभियोजित किया जा सकेगा। यह आदेश तुरन्त प्रभाव से आगामी आदेश तक प्रभावशील रहेगा।


Leave a comment