बागरा में फैक्ट्री मुनिम से हुई लूट का पर्दाफाश, दूसरे मुनिम समेत 4 आरोपी गिरफ्तार

जागरूक टाइम्स 143 Aug 13, 2019

- लूटे गए 11 लाख रुपए किए बरामद

- एक आरोपी अभी भी फरार

जालोर. पिछले दिनों बागरा थाना क्षेत्र में ग्रेनाइट फैक्ट्री के मुनिम से हुई लूट का पुलिस ने पर्दाफाश करते हुए एक अन्य मुनिम समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों से 11 लाख रुपए भी बरामद किए हैं। पुलिस अधीक्षक हिम्मत अभिलाष टांक ने बताया कि 8 अगस्त को बागरा थाना क्षेत्र में रेलवे फाटक बागरा के पास हुई लूट की वारदात को ट्रेस आउट कर गिरफ्ता किया। साथ ही आरोपियों से 11 लाख रुपए बरामद भी किये गये। एसपी ने बताया कि घटना के बाद पुलिस ने तफ्तीश शुरू की तो सामने आया कि बिना नम्बरी प्लसर गाड़ी एव हीरो होन्डा साइन मोटरसाइकिल उपयोग में ली गई। जिसके चालक/मालिक के पता करने उक्त वाहन बागरा निवासी हरचन्द सिंह उर्फ हरसन सिंह पुत्र चन्दन सिंह राजपूत का होने एवं घटना के वक्त शौकत पुत्र करीम खां मुसलमान द्वारा चलाने की जानकारी सामने आई।

इस पर मुखबिर तंत्र, तकनिकी सहायता से संदिग्ध हरचन्दसिंह व चूरा निवासी युवराज सिंह पुत्र पुनमसिंह राजपूत को दस्तयाब कर गहनता से पूछताछ की गई। जिस पर दोनों ने घटना को अंजाम देना कबूल कर लिया। साथ ही बताया कि उनके दोस्त सांथू निवासी विरेन्द्र कुमार पुत्र पन्नालाल सरगरा ने उन्हें बताया कि उसके फैक्ट्री मालिक सांथू निवासी अर्जुन पुत्र गोपाल श्रीमाली ब्राहमण की ग्रेनाइट फैेक्ट्री भागली, जालौर में आई हुई है, जिसमें भंवरलाल जाट मुनिम है, जो फैक्ट्री का पूरा हिसाब-किताब रखता है। मुनिम भंवरलाल रोज फैक्ट्री के कामकाज के लिए लाखों रुपए इधर-उधर करता है। 8 अगस्त को भी भंवरलाल उसके सेठ अर्जुन श्रीमाली के घर सांथु से लाखों रुपए प्लॉट के देने के लिए लेकर आ रहा है, जिस पर उक्त पांचों आरोपियों शौकत खां, युवराज सिंह, हरचन्द उर्फ हरसन सिंह, धर्मवीर ंिसंह ने मुनिम भंवरलाल जाट को लूटने की योजना बनाई।

इस तरह से दिया वारदात को अंजाम
आरोपी विरेन्द्र मुनिम भंवरलाल को लेने बागरा बस स्टैन्ड पर गया और भंवरलाल को मोटरसाइकिल पर बैठाकर भागली की तरफ लेकर जाने लगा। विरेन्द्र के दोस्त युवराजसिंह व हरचन्दसिंह ने विरेद्र के पीछे-पीछे रैकी करने के लिए अपने दोस्त बागरा निवासी शौकत खां पुत्र करीम खां मोयला व कालन्दर (चूरू) निवासी धर्मवीरसिह पुत्र हिम्मतसिंह राजपुत प्लसर मोटर साइकिल देकर पीछे भेजे। ज्योंही विरेन्द्र एव भंवरलाल बागरा रेलवे फाटक क्रोस कर होटल ढोला मारू के पास पहुंचे कि सामने से युवराजंिसह व हरचन्दसिह भी मोटरसाईकिल लेकर आये व आते ही मोटरसाइकिलों को विरेन्द्र सरगरा की मोटरसाइकिल के आगे डालकर मोटर साइकिल रुकवाई तब विरेन्द्र सरगरा पूर्व तय योजनानुसार जानबूझकर अपनी मोटर साइकिल को नीचे पटक कर पास ही आये खेतों व बबूल की झाडिय़ों में भाग गया व भंवरलाल के हाथ में से रुपयों से भरा बैग को हरचन्दसिंह, युवराजसिंह, शोकत खां व धर्मवीरसिंह ने लूटकर घटना को अंजाम दिया। चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि आरोपी धर्मवीरसिंह की तलाश जारी हैं।

दूसरे मुनिम विरेन्द्र को लगा था लालच
आरोपी सांथू निवासी विरेन्द्र कुमार पुत्र पन्नालाल सरगरा पिछले 8 -9 माह से परिवादी अर्जुनलाल श्रीमाली की ग्रेनाइट की फेक्ट्री में हेल्पर एव मुनिमाई का काम करता था। फैक्ट्री के कामकाज हेतु रोज लाखो रूपये ईधर-उधर होते थे। इसकी जानकारी मुनिम विरेन्द्र कुमार को होने के कारण लालच में आकर मुनिम विरेन्द्र कुमार सरगरा ने साथियों युवराजसिंह, हरचन्दसिंह, शौकत खां व धर्मवीर सिंह से सांठ-गांठ कर कर लूट की योजना बनाई व लूट की वारदात को अंजाम दिया।

इस टीम ने मिलकर किया पर्दाफाश
घटना के बाद एएसपी सत्येन्द्र पाल सिंह, पुलिस उपाधिक्षक जयदेव सियाग, बागरा थानाधिकारी रामनिवास, बागोड़ा थानाधिकारी भरत रावत, सायला थानाधिकारी राणसिंह की टीम ने मिलकर वारदात का पर्दाफाश किया।

Leave a comment