जयपुर. पड़ोसी की लग्जरी कार से कुचला 7 साल का मासूम, मौके पर हुई दर्दनाक मौत, हंगामा

जागरूक टाइम्स 151 Sep 23, 2020

जयपुर. राजधानी जयपुर में एक बार फिर रफ्तार का कहर देखने को मिला. करधनी थाना क्षेत्र में निवारू रोड़ इलाके में एक लग्जरी कार ने 7 साल के मासूम को कुचल दिया. मासूम अपने घर के बाहर ही अन्य बच्चों के साथ खेल रहा था. टक्कर से मासूम की मौके पर ही मौत हो गई. इससे गुस्साएं परिजनों ने मौके पर खड़ी गाड़ियों में तोड़फोड़ भी कर दी. घटना बुधवार सुबह करीब 9 बजे के आसपास की है. मासूम के पड़ोस में रहने वाला सुरेश यादव पार्किंग में खड़ी अपनी कार निकाल रहा था कि अचानक कार स्पीड में अनियंत्रित होकर पहले सामने खड़े ठेले से टकराई और उसके बाद घर के बाहर खेल रहे 7 साल के शिवराज को कुचलते हुए सामने खड़े बिजली के पोल से जा भिड़ी. कार की स्पीड और टक्कर का अंदाजा क्षतिग्रस्त पोल को देखकर लगाया जा सकता है. घटना के बाद मासूम को प्राइवेट हॉस्पिटल ले जाया गया. वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. आरोपी मौके से फरार हो गया. पुलिस उसकी तलाश कर रही है.

गुस्साए परिजनों ने सुरेश के घर के बाहर खड़ी उसकी अन्य कारों में जमकर तोड़फोड़ कर दी. मामला बढ़ने पर मौके पर पहुंची करधनी थाना पुलिस ने लोगों से समझाइश कर उनको शांत करवाया. घटना के बाद परिजन आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराने की बात पर अड़ गए. परिजनों का कहना था कि क्योंकि उसका कॉलोनी में सभी लोगों से झगड़ा रहता था. सुरेश का टूर एण्ड ट्रेवल्स का काम है. उसके चलते वह कॉलोनी में अपनी कारें पार्क रखता है. अन्य लोगों कार पार्क नहीं करने देता है. इसके कारण आए दिन अन्य लोगों से उसका झगड़ा होता रहता है. आज भी शिवराज व कॉलोनी के अन्य बच्चे अपने घर के बाहर खेल रहे थे. मौका देखकर सुरेश ने रंजिशन मासूम पर कार चढ़ा दी. मासूम के फुफा भरत सिंह बताया कि सुरेश की कार और मासूम के बीच 10 फीट से भी कम की दूरी थी. सुरेश ने कार स्टार्ट ही की थी. ऐसे में वो अनंयत्रित कैसे हो सकती है. उसने जानबूझकर मासूम की हत्या की है. परिजनों का विरोध बढ़ता देख स्थानीय थाना पुलिस ने उच्चाधिकारियों के निर्देश पर सुरेश के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. 7 साल का शिवराज अपने पिता रोहिताश सिंह की इकलौती संतान था. घटना के बाद परिजनों का रो रोकर बुरा हाल हो गया है. रोहिताश के पिता घटना के बाद बेहोश हो गए. उन्हें कई घंटों बाद होश आया. घटना के बाद जिस जगह शिवराज का खून बिखरा हुआ था वहां वे कई देर तक बेसुध होकर बैठे रहे. वहीं शिवराज की मां भी अपने बच्चे को खोने के गम में बेसुध हो गई. घटना के बाद पूरी कॉलोनी में सन्नाटा पसरा हुआ है.


Leave a comment