बीजेपी अध्यक्ष मदनलाल सैनी का निधन, एम्स में ली अंतिम सांस

जागरूक टाइम्स 175 Jun 24, 2019

जयपुर: राजस्थान बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी का सोमवार की शाम को निधन हो गया. बताया जा रहा था कि वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे. खबरों के मुताबिक उन्हें फेफड़ों में इंफेक्शन की शिकायत सामने आ रही थी. अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक उनकी तबीयत जब ज्यादा बिगड़ी तो उन्हें मालवीय नगर स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. जिसके बाद उन्हें एम्स भर्ती कराया गया. वह पिछले तीन दिन से एम्स में भर्ती थे.

मदन लाल सैनी के निधन पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दुख जताया है. और उन्होंने कहा कि सैनी जी के निधन के बारे में सुनकर काफी आहत हूं. इस दुख की घड़ी में ईश्वर उनके परिवार को शक्ति दे. मेरी सांत्वना उनके परिवार के साथ है.

बाते दें कि राजस्थान में मदनलाल सैनी की गिनती पार्टी में निचले स्तर से प्रदेश अध्यक्ष के पद तक पहुंचने वाले एक स्वच्छ और जुझारू राजनेता के तौर पर होती थी. राजनीति से जुड़े लोगों का कहना है मदनलाल सैनी को कि पार्टी के प्रति निष्ठा, सादगी, जमीनी पकड़ की वजह से जाना जाता था. फार्च्यूनर, सफारी और लावलश्कर के साथ चलने वाले फोकस वाले नेताओं के दौर में मदनलाल सैनी वो नेता थे जो राजस्थान रोडवेज की बस से चला करते थे.
मदनलाल सैनी वो नेता थे जो चौमू सर्कल से पैदल प्रदेश कार्यालय पहुंचा करते थे. मदनलाल सैनी मूलत: सीकर जिले की मालियों की ढाणी के रहने वाले थे. सैनी ने साल 1990 में अपना पहला चुनाव उदयपुरवाटी विधानसभा क्षेत्र से लड़ा था और विजयी रहे थे. उसके बाद वह 1991 में एक साल भाजपा के झुंझुनूं जिलाध्यक्ष रहे. बाद में ओमप्रकाश माथुर के अध्यक्ष काल में प्रदेश महामंत्री रहे. बेहद साधारण जीवन शैली अपनाने वाले सैनी के बारे में यह सभी जानते थे कि वह हाल तक भी बस में सफर करते थे.

वहीं लोकसभा चुनाव की बात करें तो मदन लाल सैनी ने दो बार लोकसभा चुनाव में भी भाग्य आजमाया था, लेकिन वह असफल रहे थे. हालांकि वह लंबे समय तक बीजेपी अनुशासन समिति के अध्यक्ष रहे हैं. साथ ही मदन लाल सैनी भाजपा किसान मोर्चे के प्रदेशाध्यक्ष भी थे. वहीं मदन लाल सैनी के परिवार की बात करें तो उनके पांच पुत्रियां और एक पुत्र है. पुत्र मनोज सैनी पेशे से वकील हैं जो हाईकोई में वकालत करते हैं.


Leave a comment