न अटकती हैं, न भटकती हैं और न लटकती हैं, जन-जन तक पहुंचती हैं हमारी योजनाएं : पीएम

जागरूक टाइम्स 258 Jul 7, 2018

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि दिल्ली में केन्द्र सरकार और मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के नेतृत्व में राजस्थान सरकार सहित अन्य राज्यों में हमारी सरकारों की योजनाएं न अटकती हैं न भटकती हैं और न लटकती हैं। ये योजनाएं बिना देरी और रूकावट के जन-जन तक पहुंचती हैं। प्रधानमंत्री शनिवार को जयपुर के अमरूदों के बाग में प्रधानमंत्री-लाभार्थी जनसंवाद कार्यक्रम में भाग लेने आए विभिन्न योजनाओं के लाखों लाभार्थियों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने इस अवसर पर केन्द्र तथा राज्य सरकार की विभिन्न 13 योजनाओं सेे लाभार्थियों के जीवन में आए सुखद बदलावों के अनुभव जाने। प्रधानमंत्री ने राजस्थान के विभिन्न शहरों और कस्बों में शहरी विकास की दृष्टि से 2100 करोड़ रुपये की 13 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। मोदी ने कहा कि पार्वती-कालीसिंध-चंबल लिंक परियोजना को राष्ट्रीय महत्व का दर्जा देने की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे एवं उनकी सरकार की मांग पर केन्द्र सरकार सकारात्मक रूख अपनाएगी। उन्होंने आश्वस्त करते हुए कहा कि प्रदेश के 13 जिलों और 40 प्रतिशत आबादी की पेयजल और सिंचाई की आवश्यकता पूरा करने की दृष्टि से महत्वपूर्ण इस प्रोजेक्ट पर संवेदनशीलता के साथ फैसला लिया जाएगा।

न्यू इंडिया का निर्माण राजस्थान के बिना संभव नहीं :
प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्ष 2022 तक जिस नये भारत के निर्माण का सपना हमने संजोया है वह राजस्थान के बिना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में राष्ट्रीय पोषण मिशन और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को जिस तरह से लागू किया जा रहा है वह अनुकरणीय है।

जन का क्या मन है यहां दिखाई दे रहा है :
संवाद कार्यक्रम में शिरकत करने आए लाखों उत्साहित लाभार्थियों से प्रधानमंत्री ने कहा कि राजस्थान में जन का क्या मन है यह आज आप लोगों के उत्साह तथा भागीदारी से स्पष्ट दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा कि राजस्थान की संस्कृति, स्वागत, सत्कार और अपनेपन की झलक मैं आप लोगों के बीच आकर महसूस कर रहा हूं।

राजस्थान में किसान के पसीने का सम्मान सरकार ने सुनिश्चित किया :
प्रधानमंत्री ने कहा कि राजस्थान में हमारी सरकार ने किसानों के पसीने का सम्मान सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि सूरतगढ़ से तीन साल पहले जब मैंने मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का शुभारम्भ किया तब पूरे देश में 14 करोड़ कार्ड किसानों को देने का लक्ष्य रखा था। मुझे खुशी है कि हम देश में 14 करोड़ 50 लाख मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित कर चुके हैं इनमें से राजस्थान में 90 लाख कार्ड किसानों को दिये गये हैं। मोदी ने कहा कि आज मुझे खुशी है कि फसल की लागत का डेढ गुणा न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित करने के बाद पहला सार्वजनिक कार्यक्रम भी मुझे राजस्थान में ही करने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि हमारी सरकारें यह सुनिश्चित कर रही हैं कि बीज से लेकर बाजार तक किसानों के हक में फैसले लिये जाएं।
  
पांच करोड़ लोग गरीबी से मुक्त हुए :
प्रधानमंत्री ने कहा कि केन्द्र हो या राज्य, हमारी सरकारों का एक मात्र एजेंडा विकास है। उन्होंने एक रिपोर्ट का उल्लेख करते हुए कहा कि भारत में पांच करोड़ लोग गरीबी से मुक्त हुए हैं इसका कारण है साफ नीयत से लिये गये सही फैसले। राजस्थान में विभिन्न विकास कार्यो का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत यहां 8 0 लाख शौचालयों का निर्माण किया गया है। लगभग ढाई करोड़ से अधिक जन-धन खाते खोले गये है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 6 लाख से अधिक लोगों को छत देने का काम हुआ है। करीब 70 लाख से अधिक लोगों को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और
44 लाख लोगों को मुद्रा योजना का लाभ मिला है।

प्रधानमंत्री जी ने गरीब के दर्द को समझा : मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का व्यक्तिगत लाभार्थी संवाद कार्यक्रम में स्वागत करते हुए कहा कि उन्होंने गरीब के दर्द को समझा और जन-धन योजना तथा मोबाइल के माध्यम से यह सुनिश्चित किया कि लाभार्थियों के खाते तक पूरा पैसा बिना किसी लीकेज के पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहा कि इतने अधिक लाभार्थियों से देश के प्रधानमंत्री सीधे रूबरू हो रहे हों ऐसा संवाद पहली बार हुआ है।

राजे ने प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, राजश्री, उज्ज्वला, पालनहार, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा, प्रधानमंत्री मुद्रा, कौशल विकास, स्कूटी-साइकिल योजना, श्रमिक कल्याण, भामाशाह, मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन तथा किसानों कल्याण की योजनाओं के लाभार्थियों से प्रधानमंत्री को रूबरू कराया। मोदी ने इन लाभार्थियों से मुलाकात की। प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए किसानों ने मोदी को हल, जेली तथा बाजरा के सिट्टे भेंट किए तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताया। इससे पहले गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एकात्म मानववाद के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय के आदर्शो को साकार करने में जुटे हैं।

उनके नेतृत्व में हर वर्ग के कल्याण के लिये योजनाएं चलाई जा रही हैं। इस अवसर पर राज्यपाल कल्याण सिंह, केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़, अर्जुनराम मेघवाल, गजेन्द्र सिंह शेखावत, पीपी चौधरी, सीआर चौधरी, विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल एवं सांसद मदनलाल सैनी भी मंचासीन थे।

कुल 2100 करोड़ रूपये की इन परियोजनाओं का किया शिलान्यास :
1 स्मार्ट सिटी मिशन अजमेर के अन्तर्गत एलीवेटेड रोड परियोजना
2 स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत उदयपुर परकोटे में एकीकृत आधारभूत परियोजना
3 स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत कोटा दशहरा मैदान विकास परियोजना फेज-द्वितीय
4 अमृत मिशन के अंतर्गत सीकर सीवर परियोजना एवं धौलपुर, नागौर, अलवर व जोधपुर में सीवर परिशोधन संयंत्र का उन्नतिकरण
5 अमृत मिशन के अंतर्गत नागौर, झालावाड़, चित्तौडग़ढ़, किशनगढ़ एवं सुजानगढ़ शहरों की हरित स्थल विकास परियोजना
6   अमृत एवं स्मार्ट मिशन के अंतर्गत अजमेर शहर में पेयजल परियोजना
7 आरयूआईडीपी के अंतर्गत भीलवाड़ा सीवरेज परियोजना तृतीय चरण
8   आरयूआईडीपी के अंतर्गत बीकानेर (गंगाशहर) क्षेत्र सीवरेज परियोजना
9 आरयूआईडीपी के अंतर्गत हनुमानगढ़ में जलापूर्ति एवं सीवरेज परियोजना का शिलान्यास
10 आरयूआईडीपी के अंतर्गत माउण्ट आबू सीवरेज परियोजना का शिलान्यास
11 पीएमएवाई (शहरी) के अंतर्गत केशोरायपाटन (बूंदी) में सहभागिता के आधार पर किफायती आवास परियोजना
12 पीएमएवाई (शहरी) के अंतर्गत ब्यावर (अजमेर) में सहभागिता के आधार पर किफायती आवास परियोजना
13 पीएमएवाई (शहरी) के अंतर्गत बीकानेर में सहभागिता के आधार पर किफायती आवास परियोजना


Leave a comment