फसली ऋण माफी योजना : सोसायटी संचालक-व्यवस्थापक और बैंक अधिकारी डुबो रहे कर्जमाफी की लुटिया

जागरूक टाइम्स 607 Sep 5, 2018

-प्रदेश सरकार की 'फसली ऋण माफी योजनाÓ को किसानों के लिए बुरा सपना बनाने में जुटे हैं सरकारी कारिंदे

जयपुर @ जागरूक टाइम्स

राजस्थान सरकार द्वारा पहली बार की गई कर्ज माफी योजना को सरकारी कारिंदे ही किसानों के लिए बुरा सपना बनाने में जुटे हुए हैं। सहाकारिता विभाग की तमाम हिदायतों को धत्ता बताकर सोसायटी संचालक, बैंक अधिकारी और व्यवस्थापक मिलकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार की अन्नदाता के लिए राहतभरी इस योजना की लुटिया डुबोने पर तुले हुए हैं। सरकार ने 50 हजार रुपए तक का कर्जमाफी करने घोषणा तो कर दी, लेकिन सरकारी अफसर-कर्मचारी इसको अपना धंधा बनाकर चांदी कूटने में जुटे हुए हैं।

यह भी पढ़े : पचपदरा के लिए एक ही बस में रवाना हुए कांग्रेस के दिग्गज नेता 

कई तरह के मामले सामने आए हैं। सोसायटी ने जो जमीन लिखकर दी, बैंक उसी हिसाब से कर्जमाफी कर रहे हैं। जमीन लिखने में हेरा-फेरी करने के कारण कई जगह सोसायटियों पर 30 से 50 हजार रुपए तक बैंक अधिकारियों को रिश्वत देने के आरोप भी लगे हैं। किसानों का आरोप है कि पटवारी और गिरदावर सही रिपोर्ट दे रहे हैं, लेकिन सोसायटी अपने स्तर पर मर्जी से जमीन बताकर कर्जमाफी करवाने पर तुली है। इस मामले को कई दिनों से खंगालने में जुटा है, जिसके बाद कई ऐस तथ्य सामने आए हैं, जो साबित करते हैं कि इस कर्जमाफी को सोसायटी संचालक, सोसायटी व्यवस्थापक और बैंक अधिकारी मिलकर निपटाने में जुटे हैं। 

यह भी पढ़े : समुद्र हिलोरने की निभाई रस्म, उमड़ा जनसैलाब  

इन उदाहरणों से समझे हालात-

1. किसान गंगाराम मेघवाल के पास 15 बीघा जमीन है। गंगाराम ने साल 2017 में 5000 रुपए का कर्ज लिया था। बैंक ने गंगाराम मेघवाल का केवल 257 रुपए ब्याज माफ किया है, बाकि 5000 रुपए वसूल लिए हैं।

2. नारायण सिंह राजपूत के पास 9.3 हैक्टेयर जमीन है। उसने 30884 रुपए का कर्ज लिया था, लेकिन उसके केवल 10666 रुपए माफ हुए हैं, बाकि पैसे वसूल लिए गए हैं।

3. भंवरनाथ के पास 5 हैक्टेयर जमीन है। उसने 2017 में 51426 रुपए का कर्ज लिया था। उसपर ब्याज के 3600 रुपए जोड़े गए, लेकिन इसके बावजूद भंवरनाथ से 33826 रुपए वसूल लिए गए हैं।

4. नेमाराम के पास 15 बीघा जमीन है। उसने 20 हजार रुपए का कर्ज लिया था। लेकिन 50 हजार रुपए की कर्जमाफी के बाद भी 9171 रुपए बैंक ने वसूल लिए हैं।

5. नथाराम पुत्र मोटाराम के पास 4 हैक्टेयर जमीन है। नथाराम ने साल 2017 में 23104 रुपए का कर्ज लिया था। नथाराम के 13704 रुपए ब्याज के जोड़कर कुल 46808 का कर्जा बताया गया। मजेदार बात यह है कि उसको 25 हजार रुपए का कर्जमाफ बताकर 25028 की वसूली की गई है।

ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो करे फेसबुक | इंस्टाग्राम  | ट्विटर

Leave a comment