दुष्कर्म आरोपी मात्र 70 दिन में दोषी करार

जागरूक टाइम्स 163 Jul 19, 2018

जयपुर । प्रदेश में पॉक्सो एक्ट के तहत त्वरित कार्यवाही करते हुए अलवर जिले के लक्ष्मणगढ क्षेत्र के ग्राम हरसाना में सात माह की बच्ची का अपहरण कर दुष्कर्म करने के आरोपी पिन्टू पुत्र सोहन लाल को मात्र 70 दिन में दोषी करार दिया गया है। महानिदेशक पुलिस श्री ओ. पी. गल्होत्रा ने बताया कि पॉक्सो एक्ट के तहत दोषी करार देने की यह पहली कार्यवाही है। उन्होंने बताया कि 12 वर्ष से कम आयु की बच्चियों से दुष्कर्म के मामले में कठोर सजा देने के लिए 21 अप्रेल 2018 को यह दण्ड विधि संशोधन अस्तित्व में आया था।

विशेष न्यायाधीश (अनुसूचित जाति-अनुसूचितजनजाति अत्याचार निवारण प्रकरण) श्री जगेन्द्र अग्रवाल ने इस मामले में 12 पेशिया लगाते हुए 22 अदालती दिवसों में सुनवाई पूरी की। अन्तिम बहस 17 जुलाई को सुनी और 18 जुलाई को आरोपी को दोषी करार दे दिया गया। दोषी को सजा का फैसला 21 जुलाई को सुनाया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि थाना लक्ष्मणगढ जिला अलवर में ग्राम हरसाना के पीडिता के पिता ने 9 मई 2018 को अपनी सात माह की बच्ची से दुष्कर्म होने की सूचना दी। बच्ची के पिता ने बताया कि बच्ची अपनी रिश्ते में दादी लगने वाली नेत्रहीन के पास सो रही थी। बच्ची को सायं करीब 6 बजे पिन्टु पुत्र सोहनलाल जोशी निवासी हरसाना खिलाने के बहाने उठा कर ले गया। आधे घण्टे बाद बच्ची को तलाशते हुए फुटबाल फील्ड पहुंचने पर बच्ची के रोने की आवाज आई व पिन्टु बच्ची को लहुलुहान अवस्था मे छोड कर भाग गया। पुलिस ने तत्काल धारा 363,366ए, 376 आईपीसी 3/4 एवं पॉक्सो एक्ट में मामला दर्ज कर कार्यवाही प्रारम्भ कर दी।

अनुसंधान अधिकारी थानाधिकारी पुलिस थाना लक्ष्मणगढ श्री प्रहलादसहाय द्वारा परिवादी व गवाहान के बयान धारा 161 में लेखबद्ध किये गये। घटना स्थल का नक्शा मौका कसीद किया गया। घटना स्थल से खूनआलुदा मिट्टी, सादा मिट्टी एवं खून के निशान लगे बच्ची के वस्त्र इत्यादि की जरिये फर्द जप्ती की गयी।

गीतानन्द शिशु अस्पताल अलवर से पिडिता का मेडिकल मुआयना करवा कर मेडिकल रिपोर्ट प्राप्त की गई। मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार पीडिता का हाईमन टूटा हुआ पाया गया व गुप्तागों पर सोजन व चोट से पीडिता के साथ दुष्कर्म होने की पुष्टी हुई। नामजद आरोपी को तलाश कर की गई पूछताछ व अनुसंधान में आरोपी ने अपने जुर्म को कबूल कर लिया।

Leave a comment