मातृभाषा में कर एमबीबीएस की पढ़ाई

जागरूक टाइम्स 357 Feb 14, 2020

जयपुर (ईएमएस)। राष्ट्रीय शिक्षा नीति की तैयारी अंतिम चरण में है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार नई शिक्षा नीति में स्नातक कोर्स की पढ़ाई अब अपनी मातृभाषा में भी करने की सुविधा छात्र-छात्राओं को मिलेगी। नीति का प्रस्ताव तैयार करने वाली समिति के सदस्य रमाशंकर कुरील ने भी इसी आशय के संकेत दिए हैं। अगले शैक्षिक सत्र से नई शिक्षा नीति लागू हो जाएगी। नई शिक्षा नीति में बीएससी, बीकॉम, बी.टेक और एमबीबीएस जैसे कोर्स अब मातृभाषा में पढ़ाई के लिए कोर्स तैयार करने का काम बड़ी तेजी के साथ चल रहा है, जो प्रस्ताव समिति द्वारा तैयार किया जा रहा है। उसमें 2030 तक शिक्षकों के लिए न्यूनतम डिग्री की योग्यता 4 साल और बीएड अनिवार्य होगी। 2 वर्षीय डिग्री पाठ्यक्रम भी संस्थानों में लागू किए जाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है।


Leave a comment