संसद में गूंजा अकबर मौत प्रकरण, मॉब लिचिंग की जांच के लिए डीजी व गृह मंत्री पहुंचे अलवर

जागरूक टाइम्स 209 Jul 24, 2018

- संसद में हंगामे के बाद राजस्थान में बैठकों का दौर तेज

जयपुर @ जागरूक टाइम्स

गौ तस्करी के शक में मॉब लिचिंग के शिकार बने नूहू मेवात निवासी अकबर खान की मौत का मामला देशभर में गूंज रहा है। मंगलवार को संसद में इस प्रकरण को लेकर फिर से हंगामा होने के बाद केन्द्र सरकार ने राजस्थान सरकार से रिपोर्ट मांगी है।

रामगढ़ अलवर के ललावड़ी में अकबर खान की भीड़ द्वारा मारपीट के बाद हुई मौत का मामला अब पुलिस व सरकार दोनों के लिए गले की फांस बनता जा रहा है। सोमवार को पुलिस अधिकारियों के दल के जांच के बाद मंगलवार को गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया, डीजीपी ओपी गल्होत्रा व अन्य अधिकारी रामगढ़ पहुंचे।

सभी ने घटनास्थल का जायजा लेने के बाद अलवर के सर्किट हाउस में पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक ली। राज्य सरकार को अब इस मामले में जल्द से जल्द जांच रिपोर्ट बना कर केन्द्र को भेजना है। ऐसे में मंगलवार को न्यायिक जांच को लेकर भी कयास लगते रहे। अलवर जाने से पूर्व गृह मंत्री व सीएस ने सचिवालय में पुलिस के आला अधिकारियों की बैठक ली। उसके बाद कटारिया डीजीपी के साथ हैलीकॉप्टर से रामगढ़ पहुंचे।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई, 12 जगह चोट के निशान मिले

मंगलवार को पुलिस को अकबर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिल गई। रिपोर्ट के मुताबिक अकबर को बेरहमी से पीटा गया जिसके कारण उसके हाथ-पैर व पसलिया टूट गई। इस घटना को लेकर मेव समाज ने मंगलवार को भी प्रर्दशन किया।

एसीजीएम करेंगे न्यायिक जांच 

अलवर जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र में 20-21 जुलाई की रात हुई अकबर की मौत के मामले में पुलिस द्वारा सीआरपीसी की धारा176 के तहत न्यायिक जांच के आग्रह पर सीजेएम अलवर ने यह जांच एसीजीएम राजगढ़ को सौंपी है। पुलिस महानिदेशक ओपी गल्होत्रा ने बताया कि इस घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस घटना स्थल पर पंहुच गई थी एवं मौके पर मिले घायल व्यक्ति की तकनीकी पुलिस अभिरक्षा में हुई मौत को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने सीजीएम अलवर से न्यायिक जांच का आग्रह किया था।

Leave a comment