कांग्रेस अति आत्मविश्वास का शिकार, जीतेंगे हम : वसुंधरा

जागरूक टाइम्स 327 Nov 30, 2018

जयपुर : राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का मानना है कि कांग्रेस अति आत्मविश्वास का शिकार, जीतेंगे हम और एर फिर यहां भाजपा की सरकार बनाएंगे। मजदान से सात दिन पहले एक मीडिया से बातचीत में सूबे की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि कांग्रेस ओवरकॉन्फिडेंस में है, लेकिन जमीनी सच्चाई बहुत अलग है। हम एक बार फिर राजस्थान में जीतकर सरकार बनाएंगे। वसुंधरा राजे ने कहा कि हमने महिलाओं और अन्य वर्गों के लिए बहुत काम किया है।

चुनाव में आखिरकार हमारा काम बोलेगा। मुझे आशा और विश्वास है कि जीतकर हम एक बार फिर सरकार बनाएंगे। उन्होंने तंज कसते हुए कहा- हमारी सरकार के बारे में लोगों की क्या धारणा है, ये बात हमें ही नहीं पता! आखिरकार चुनाव में हमारा काम बोलेगा। वसुंधरा राजे ने कहा कि हमारी पार्टी में स्वतंत्रता है, जहां सभी को अपने स्वतंत्र विचार रखने का अधिकार है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अति आत्मविश्वास में है। जबकि जमीनी सच्चाई बहुत अलग है।

प्रदेश की जनता हमारी सरकार के द्वारा कराए गए काम पर वोट करेगी। वसुंधरा राजे ने कहा- राजनीति में परिवारवाद को नकारा नहीं जा सकता है। कांग्रेस हमारे और बीजेपी अध्यक्ष के बीच मतभेद की अफवाह फैला रही है। जबकि बीजेपी नेतृत्व के साथ हमारे संबंध बहुत सौहार्दपूर्ण है। उन्होंने कहा कि आरएसएस सहित भाजपा और उससे जुड़े सभी संगठनों का समर्थन मिल रहा है।

उन्होंने कहा, मैं टैंट्रम में विश्वास नहीं करती, मेरी राजनीतिक का ये तरीका नहीं है। पार्टी तय करेगी कि 11 दिसंबर के बाद सरकार का नेतृत्व कौन करेगा। राजस्थान में राजपूतों की नाराजगी को लेकर किए गए सवाल पर उन्होंने कहा कि राजपूत समाज हमारे खिलाफ नहीं है। केवल कुछ लोग हैं, जो अपने निहित स्वार्थ में हमारे खिलाफ हैं। वसुंधरा राजे ने कहा कि राजस्थान में महिला सशक्तिकरण के लिए हमने बहुत काम किए हैं। कौशल विकास के जरिए हमने बहुत मदद की है। इसके कार्यक्रम के जरिए रोजगार से लोगों को जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में विकास के बहुत काम हुए हैं, लेकिन पांच साल में सभी कामों को पूरा करना संभव नहीं है। कई काम अलग-अलग चरण में हैं।

राजस्थान पिछले कुछ सालों में आईटी सेक्टर में बहुत अच्छी तरह से काम कर रहा है। वसुंधरा राजे ने कहा, मैंने सबसे ज्यादा जोर विकास पर दिया। बता दें कि राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए राज्य की सभी 200 सीटों के लिए सात दिसंबर को मतदान होंगे और नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे। विधानसभा चुनाव की सियासी लड़ाई कांग्रेस और भाजपा दोनों के लिए नाक का सवाल बन गई है। वसुंधरा राजे लगातार दूसरी बार सत्ता में आने के लिए जद्दोजहद कर रही हैं। वहीं, सचिन पायलट और अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस सत्ता में एक बार फिर वापसी की कोशिशों में जुटी है।

Leave a comment