जितनी मार नहीं पा रहे, उससे ज्यादा टिड्डियां पाकिस्तान से उड़कर आ रही

जागरूक टाइम्स 214 Jul 16, 2019

बीकानेर (ईएमएस)। कृषि और टिड्डी नियंत्रण विभाग के हाथ-पांव अब फूलते जा रहे हैं, क्योंकि जितनी टिड्डी रोज मार रहे हैं उससे ज्यादा पाकिस्तान से रोज आ रही हैं। सोमवार को कोलायत के भलूरी, जगासर, मकेरी, धोंधा समेत कई गांव में टिड्डियों पर दवा छिड़की, लेकिन तेज हवा के चलते आधी टिड्डियां उड़ गईं। हवा तेज होने से टिड्डियां अलग-अलग झुंड बनाकर उड़ रही हैं। टिड्डियों के मूवमेंट से कृषि विभाग के अफसरों के माथे पर भी बल पडऩे लगा है। लूणकरणसर, बीकानेर और करमीसर में टिड्डियों के छोटे झुंड दिखाई दे रहे हैं।

वहीं, पूगल, खाजूवाला बॉर्डर पर भी टिड्डियां पहुंच गई हैं। कृषि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि सबसे बड़ी परेशानी है तेज हवा। मिट्टी के कारण दूर से कुछ समझ नहीं आता। स्प्रे करने पहुंचते हैं तो तेज हवा से आधी उड़ जाती हैं। एक जगह झुंड हो तो मारने में आसानी होती है, लेकिन हवा की वजह से एक झुंड कई टुकड़ों में बटकर चौतरफा फैल रही है। यदि एक ही जगह हों तो हेलिकॉप्टर से भी स्प्रे करा सकते हैं, लेकिन ऐसे स्थिति में हेलिकॉप्टर से स्प्रे भी संभव नहीं है।

उन्होंने बताया कि टीमें रात 11 बजे तक टिड्डियों की लोकेशन तलाशती हैं, फिर सुबह 5 बजे उन पर स्प्रे करते हैं। राहत की बात ये है कि टिड्डियों ने फसलों को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचाया, क्योंकि ये उनकी ब्रीडिंग का समय है। टिड्डियां ब्रीडिंग में व्यस्त हैं। लेकिन, यही परेशानी की बात भी है। ब्रीडिंग में टिड्डियों की संख्या बढ़ जाती है तो उन्हें नष्ट करना बड़ी चुनौती होगी। टिड्डियों को लेकर चिंता बढ़ रही है क्योंकि हवा के कारण वे चारों तरफ फैल रही हैं। अभी तक नुकसान जैसी बात नहीं है लेकिन जब तक आंधी बंद नहीं होगी तब तक उनको मारने में दिक्कत आ रही है। हमारी टीमें जुटी हैं। जहां सूचना मिलती हैं वहां हम उन पर स्प्रे कर रहे हैं। -जगदीश पूनियां, उपनिदेशक कृषि विभाग



Leave a comment