लूणी नदी में दूषित जलप्रवाह को लेकर सरकार असंवेदनशील : महंत

जागरूक टाइम्स 436 Jul 25, 2018

समदड़ी @ जागरूक टाइम्स

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य महंत निर्मलदास महाराज ने कहा कि भाजपा सरकार एवं प्रदूषण विभाग कुंभकर्णी नींद सो रहे हैं। उन्होंने सरकार व विभाग की कार्यशैली व भ्रष्ट नीतियों पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए कहा कि लूणी नदी में प्रदूषण युक्त पानी का प्रवाह हो रहा है, लेकिन इसे दुर्भाग्य कहेंगे कि सरकार इसके प्रति असंवेदनशील है।

वे बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ क्षेत्र का दौरा करने विभिन्न गांवों में पहुंचे थे। मरूगंगा के नाम से विख्यात लूणी नदी में पाली के औद्योगिक क्षेत्र की फैक्ट्रियों से निकलने वाले केमिकल युक्त दूषित जल प्रवाह जिले के रामपुरा, महेश नगर, गोदो का बाड़ा, पातों का बाड़ा, अजीत चारणों का बाड़ा, भानावास, भलरों का बाड़ा रनिया देशीपुरा होते हुए समदड़ी पहुंचने पर उन्होंने किसानों से वार्ता की। साथ ही क्षेत्र का दौरा कर किसानों में व्याप्त आक्रोश का समर्थन करते हुए उनके दुख दर्द को सुना व पातों का बाड़ा के तटवर्ती क्षेत्र के बंजर जमीन एवं रसायन युक्त पानी से खराब हुए कुओं का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिदृश्य में भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार किसानों के हितों और अधिकारों को लेकर कतई संवेदनशील नहीं है, जो की दुर्भाग्यपूर्ण है। आज रसायनिक पानी के प्रवाह के कारण जमीन बंजर हो रही है। ग्रामीणों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हो रही है। पशु काल कलवित हो रहे हैं। उपजाऊ भूमि नष्ट हो रही है।

महंत ने कहा कि कुंभकर्णी नींद में सो रही भाजपा सरकार का इस ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए अगर आंदोलन भी करना पड़ा तो हम लोग किसानों के साथ इस आंदोलन को पूर्ण रूप से समर्थन देंगे। सरकार को मजबूर करेंगे कि पाली क्षेत्र की केमिकल की फैक्ट्री से केमिकल युक्त दूषित जल प्रवाह पर तुरंत रोक लगाए और किसानों को राहत पहुंचाएं

पूर्व जिला प्रमुख बालाराम चौधरी ने कहा कि केमिकल युक्त जल प्रवाह के कारण नदियों में बने जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के कुएं रिचार्ज होने के कारण पेयजल के तौर पर उपयोग में लिए जाने वाले जल से संक्रमण के कारण क्षेत्र में अनेक बीमारियां फैल रही हैंं। जो कि चिंता का विषय है ।अतः प्रशासन से पुरजोर रूप से मांग करते हैं कि किसानों की जायज मांग फैक्ट्रियों के केमिकल युक्त दूषित पानी के प्रवाह पर तुरंत प्रभाव से लूनी नदी में रोका जाए। जिससे क्षेत्र के आम किसानों को राहत मिले।

कांग्रेस सेवादल प्रदेश संगठन मंत्री हुकमसिंह अजीत ने कहा कि माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार पाली जिले की फैक्ट्रियों से प्रसारित होने वाला केमिकल युक्त दूषित जल को ट्रीटमेंट प्लांट के माध्यम से स्वच्छ कर नदियों में छोड़ने का प्रावधान है, लेकिन न्यायालय के आदेशों की अवहेलना करते हुए पाली जिला प्रशासन एवं प्रदूषण मंडल के विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा मिलीभगत कर औद्योगिक इकाइयों के मालिकों को अनुचित लाभ पहुंचाया जा रहा है। इसके लिए केमिकल युक्त पानी को बिना ट्रीटमेंट प्लांट में लिए सीधा नदियों में छोड़ा जा रहा है, जो कि न्याय संगत नहीं है। अतः सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के इस भ्रष्ट तंत्र में आज किसान दुखी व व्यथित है।

पातों का बाड़ा में ग्रामीणों ने लूनी नदी में पाली की फैक्ट्रियों से केमिकल युक्त दूषित जलप्रवाह को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर आक्रोश व्यक्त किया।

इस दौरान कांग्रेस अनुसूचित जनजाति विभाग जिला महासचिव एवं खेजड़ियाली सरपंच प्रतिनिधि मदनलाल भील, अजीत सरपंच प्रतिनिधि अनिल मेघवाल, पूर्व सरपंच चेलाराम चौधरी, कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग ब्लॉक अध्यक्ष गुल मोहम्मद रंगरेज, युवा कांग्रेस समदड़ी नगर अध्यक्ष दिलीप सिंह राव, पूर्व जिला महासचिव अधिवक्ता घेवरचंद प्रजापत, मेघवाल समाज ब्लॉक अध्यक्ष घेवरराम महेश नगर, किसान संघ तहसील उपाध्यक्ष आशुराम चौधरी, संगठन मंत्री मगाराम चौधरी, मानाराम धूणिया,महेश कुमार श्रीमाली, बाबूलाल मेघवाल, भीमाराम भील, भुताराम देवासी, मेहराराम सोलंकी, सांवलराम मेघवाल, बाबूलाल भील, मोहन मेघवाल, छात्र नेता अर्जुन सिंह इटवाया, ढलाराम लुहार, रामाराम माली, धुड़ा राम भील सहित ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a comment