तांत्रिक विद्या की आड़ में नाबालिग को भगा ले गया पाखंडी बाबा

जागरूक टाइम्स 2155 Jul 3, 2018

बाड़मेर @ जागरूक टाइम्स

देशभर में पाखंडी बाबाओं के दुष्कर्म व अन्य संगीन मामलों में शामिल होने के मामले सामने आने के बाद अब बाड़मेर में एक पाखंडी बाबा का मामला चर्चा का विषय बना हुआ है। इस पाखंडी ने तांत्रिक विद्या से इलाज करने के बहाने एक परिवार से नजदीकियां बढ़ाई और फिर 17 वर्षीया किशोरी को भगा ले गया। महिला पुलिस थाने में 26 मई को बाबा के खिलाफ किशोरी का अपहरण कर भागने का मामला दर्ज हुआ था। हालांकि पुलिस ने आसपास के इलाकों में पाखंडी बाबा और किशोरी की तलाश की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। घटना के 35 दिन बाद पांच थानों की अलग-अलग टीमें तलाश में जुट गई हैं। 

पुलिस अधीक्षक डॉ. गगनदीप सिंगला के मुताबिक गेहूं गांव निवासी एक महिला ने रिपोर्ट देकर बताया कि उसे पेट व सिर दर्द की शिकायत रहती थी। इस पर जादू-टोना करने के लिए एक पाखंडी बाबा मोहनराम उर्फ मोहन भगत पुत्र नारणाराम निवासी सम्मो की ढाणी सेड़वा ने उसके घर पर आना-जाना शुरू किया। इसके बाद उसकी 17 वर्षीया बेटी को भी पेट व सिर दर्द होने पर उसके जादू-टोना से इलाज करने लगा। इस बीच बाबा कई बार उनके घर पर ही रुकता था। 24 मई की रात पाखंडी बाबा उसकी बेटी का अपहरण कर भगा ले गया। इसके बाद अब तक दोनों का कोई सुराग नहीं लगा है। ढोंगी बाबा तांत्रिक विद्या से विभिन्न बीमारियों का इलाज करने का दावा करता था। इसी वजह से यह परिवार भी बाबा के जाल में फंस गया। ढोंगी बाबा की तलाश में अलग-अलग टीमें प्रदेश सहित अन्य राज्यों में भी तलाश कर रही हैं, लेकिन बाबा का कोई सुराग नहीं है। पिछले दो-तीन दिन से एक टीम बाड़मेर से हरिद्वार पहुंच चुकी है, जहां बाबा को ढूंढ रही है। पुलिस को शक है कि बाबा ने दाढ़ी-मूंछें काट ली हैं और वेश बदल लिया, ताकि पहचान में नहीं आए।

Leave a comment