बाड़मेर के दो गांव के हजारों लोग करेंगे मतदान का बहिष्कार

जागरूक टाइम्स 1016 Apr 4, 2019

-बाड़मेर प्रशासन को दी चेतावनी, चुनाव आयोग के नाम सौंपा ज्ञापन

-पानी और बिजली नहीं तो वोट भी नहीं- ग्रामीण

-गडरारोड़ तहसील के ख़बड़ाला गांव का मामला

बाड़मेर। पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर जिले के सरहदी गडरारोड़ तहसील के दो गांवों के हज़ारों लोगों ने पानी व बिजली के अभाव में लोकसभा चुनाव में मतदान ना करने का निर्णय लिया है। ग्रामीणों का आरोप है कि आजादी के 70 साल बाद भी राजनीतिक पार्टीयां और बाड़मेर जिला प्रशासन के अधिकारी सब कुछ जानते हुए भी गांवों की समस्याओं पर मौन बने हुए है। ग्रामीणों का कहना है कि लोकसभा चुनाव के मतदान दिवस से पहले यदि प्रशासन लिखित में पानी और बिजली पहुंचाने का आश्वासन देता है तो मतदान का समर्थन करेंगे अन्यथा इस बार नोहड़ियाला व समे का तला के हज़ारों ग्रामवासी इस बार लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेंगे।

ग्रामीणों के अनुसार गांव में अधिकतर लोगो का पशुपालन है लेकिन, यहां आमजन के लिए पीने को पानी नहीं है। ऐसे में पशु पानी व अकाल के अभाव में काल का ग्रास बन रहे है। ग्रामीण अपने स्तर पर महंगे दामो में पानी के टैंकर मंगवाकर जीवन यापन पर रहे है व बिजली के लिए गांव में अभी तक कोई खंभा व विधुत लाइन भी नहीं है। ग्रामीणों का कहना है कि बहुत से नेताओं के झांसे में आकर मतदान कर लिया। इस बार बिजली और पानी नहीं तो वोट भी नहीं।



Leave a comment