पाक में भारतीय महिला की मौत का मामला : करीब सवा घंटे रुकी रही थार एक्सप्रेस, नहीं पहुंच पाए परिजन

जागरूक टाइम्स 1022 Jul 28, 2018

-विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के ट्वीट के बाद विशेष मदद, अब सड़क मार्ग से शव लाने का होगा प्रयास

बाड़मेर @ जागरूक टाइम्स

बाड़मेर की महिला रेशमा का शव पाकिस्तान से भारत लाने के लिए थार एक्सप्रेस को शनिवार को पाकिस्तान के खोखरापार में करीब 1 घंटा 15 मिनट तक रोका गया। फिर भी परिजन समय पर नहीं पहुंच पाए और रेल को रवाना किया गया। अब रेशमा का शव सड़क मार्ग से लाने के प्रयास होंगे।

बाड़मेर के अगासड़ी गांव की 65 वर्षीय महिला रेशमा का पाकिस्तान के मथुचानिया(छिपरो) में 25 जुलाई को इंतकाल हो गया। पाकिस्तान से शव लाने की अनुमति मिलने में बड़ी परेशानी आ रही थी। शुक्रवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर विदेश मंत्रालय के उच्चाधिकारियों को विशेष निर्देश दिए। उसके बाद शव लाने की इजाजत मिल गई, लेकिन 28 जुलाई को वीजा समाप्त होने पर परिजनों ने इसकी अवधि बढ़ाने के लिए दस्तावेज पाकिस्तान एम्बेसी में जमा करवा दिए थे जो शनिवार सुबह तक नहीं मिल पाए।
विदेश मंत्रालय के प्रयास पर शनिवार दोपहर 2.30 बजे तक दस्तावेज मिल गए। तब तक थार एक्सप्रेस जीरो प्वाइंट खोखरापार (पाकिस्तान) पहुंच गई थी और तय समय दोपहर बाद 4.10 बजे इसको रवाना होना था। परिजनों के शव के साथ रवाना होने की जानकारी मिलने पर भारत की ओर से थार एक्सप्रेस को सिग्नल नहीं दिया गया। इससे थार एक्सप्रेस पाकिस्तान के खोखरापार में ही रुक गई। करीब 1 घंटा 15 मिनट तक रेल रुकी रही, लेकिन परिजन नहीं पहुंच पाए। मजबूरन थार एक्सप्रेस को रवाना किया गया और यह 5.28 बजे मुनाबाव पहुंची। शव को अब सड़क मार्ग से भारत लाने के प्रयास किए जाएंगे। इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर मदद की जा रही है।

मुनाबाव में थी तैयारी

थार एक्सप्रेस से आने पर मुनाबाव में ही शव के साथ एक परिजन को रेल से उतारने की विशेष अनुमति भी मिल चुकी थी। ताकि परिजन को जोधपुर तक नहीं जाना पड़े। गौरतलब है कि थार एक्सप्रेस के यात्रियों को मुनाबाव में उतरने की इजाजत नहीं है। थार एक्सप्रेस के यात्री जोधपुर के भगत की कोठी में उतरते हैं।

Leave a comment