पद रिक्तता के खिलाफ फूटा छात्रों का गुस्सा, स्कूल पर लगाया ताला

जागरूक टाइम्स 379 Aug 1, 2018

- बाड़मेर-गुड़ामालानी सड़क किया जाम

- आरजीटी पुलिस पहुंची मौके पर, खुलवाया जाम 

गुड़ामालानी @ जागरूक टाइम्स

अपने भविष्य के प्रति चिंतित छात्रों का गुस्सा ऐसा फूटा कि उन्होंने विरोध प्रदर्शन करते हुए स्कूल के ताला जड़ दिया और शिक्षक लगाने की मांग को लेकर बाड़मेर गुड़ामालानी सड़क को जाम करके धरने पर बैठ गए। मामला है राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय छोटू का है। शिक्षकों की कमी को लेकर बुधवार सुबह छात्रों ने कक्षाओं का बहिष्कार कर दिया। वहीं सड़क पर पत्थर एवं लकडिय़ां डालकर बाड़मेर-गुड़ामालानी सड़क मार्ग जाम कर दिया। इससे वाहनों की लम्बी कतार लग गई। करीब तीन घण्टे तक जाम लगा रहने के कारण वाहन चालकों को क्षेत्र से जुड़े अन्य मार्गों से होकर गंतव्य के लिए जाना पड़ा।

यह भी पढ़े : टायर फटने से बोलेरो पलटी, एक की मौत, महिला सहित चार घायल 

स्कूल में शिक्षकों का टोटा, फूटा गुस्सा

स्कूल में व्यख्याता, वरिष्ठ अध्यापक व तृतीय श्रेणी अध्यापकों के 20 पद स्वीकृत है। जिसमें हिंदी साहित्य व्यख्याता , इतिहास व्यख्याता , गणित वरिष्ठ अध्यापक के दो पद , अंग्रेजी विषय सहित पचास फीसदी पद रिक्त होने से शिक्षण कार्य प्रभावित हो रहा है। छात्रों ने बताया कि शिक्षक लगाए जाने के लिए वे कई बार जिला शिक्षा अधिकारी को भी अवगत करा चुके हैं, लेकिन विभागीय अधिकारियों के कानों पर भी जूं तक नहीं रेंग रही है। मजबूरन उन्हें आन्दोलन पर उतारू होना पड़ा है। स्कूल में तालाबंदी की सूचना जिला शिक्षा अधिकारी को दी गयी लेकिन शिक्षा विभाग का कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा ।

यह भी पढ़े : टायर फटने से बोलेरो पलटी, एक की मौत, महिला सहित चार घायल 

आरजीटी पुलिस जाप्ता पहुंचा मौके पर

स्कूल के चार सौ छात्र-छात्राएं बुधवार सुबह साढ़े सात बजे स्कूल पहुंचे और ताला लगा दिया। आक्रोशित विद्यार्थी बाड़मेर-गुड़ामालानी मार्ग पर सड़क के बीच पत्थर डालकर सड़क पर ही बैठ गए। इसके बाद इन्होंने करीब 3 घंटे तक नारेबाजी के बीच वाहनों की आवाजाही रुकवा दी। सूचना पर आरजीटी थानाधिकारी हरचंदराम मौके पर पहुंचे। रास्ता खुलवाने के लिए छात्र-छात्राओं से समझाइश कर सड़क से जाम खुलवाकर स्कूल में भेजा ।इसके बाद थानाधिकारी ने पुलिस जवानों के साथ सड़क से पत्थर हटाकर रास्ता खोल दिया। छात्रों को कानून हाथ में नहीं लेने के लिए समझाया गया।

छात्र स्कूल में जाकर बैठ गए लेकिन कक्षा कक्ष में नहीं जाने पर अड़े रहे। थानाधिकारी हरचंदराम व कार्यवाहक प्रधानाचार्य भोमाराम बेनीवाल ने विद्यार्थियों को शिक्षकों की वैकल्पिक व्यवस्था के आश्वासन पर छात्र कक्षा कक्ष में लौटे । तालाबंदी की सूचना के बाद भी शिक्षा विभाग से कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं आया । इधर प्रधानाचार्य ने माध्यमिक जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखकर विद्यालय में वैकल्पिक स्तर पर शिक्षक लगाने की मांग की । इस दौरान सीएलजी बगताराम नेहरा , सरपंच प्रतिनिधि रामेश्वर गौड़ , उदाराम गोदारा , पदमाराम सारण , बाबूलाल मइया , भगाराम नेहरा , लुम्बाराम सारण , मदाराम विश्नोई सहित कई अभिभावक भी मौके पर पहुंचे।

Leave a comment