बाड़मेर दुष्कर्म मामला : जिसपर बीतती है, दर्द उसी को होता है - परिजन

जागरूक टाइम्स 2335 Jun 25, 2018

7 वर्षीय मासूम के साथ कर ह्त्या का मामला : उनरोड व बालेबा गांव से जागरूक टाइम्स की ग्राउंड रिपोर्ट

बाड़मेर - जुम्मे की नमाज के बाद गाँव के अधिकतर लोग अँधेरे की आड़ में छुपे घरों में कैद थे. लेकिन बाड़मेर के इस सरहदी इलाके में इस रात बहुत बड़ी घटना होने वाली थी. सात साल की मासूम मेनका को राशिद नामक इंसानी भेष का भेड़िया घर के आगे से उठा कर करीब पांच सौ मीटर दूर ले गया. दुष्कर्म करके मार डाला और लाश के साथ दुष्कर्म किया. हवस का भूत उतरा तो लाश को सूखे पानी के टाँके में फैंका और चला गया. घटना प्रकाश में आई तो न केवल बाड़मेर बल्कि पूरे देश में इस हत्यारे को फांसी की मांग जोर पकड़ने लगी हैं. जागरूक टाइम्स की टीम ने इस दलित परिवार के साथ हुए घटनाक्रम का मौके पर जाकर पड़ताल किया तो परिजनों की पीड़ा खुलकर सामने आई. न तो सरकार ने इस घटना के बाद सुध ली न स्थानीय नेताओं ने.

बाड़मेर जिले के गिराब पुलिस थाना अंतर्गत उनरोड़ गांव पाकिस्तान की सरहद से कुछ पहले इस गाँव में बीते कई दिन से लोगों ने ना तो चैन से नींद ली हैं और ना ही सकून से दिन कटा हैं. यह वही जगह हैं जहाँ मेनका (बदला हुआ नाम) नामक 7 वर्षीय मासूम के साथ बलात्कार किया गया। जिसके बाद आरोपी ने गला घोंटकर हत्या कर दी और बाद में आरोपी ने उसे सूखे टांके में फेंक दिया गया। मामले के प्रकाश में आने के बाद से ही राजस्थान भर में घटना को लेकर लोग सड़कों पर उतर रहे हैं और आरोपी को सरेआम फांसी देने की मांग की जा रही है। इस घटना के बाद हर और लोगो हिकारत से इस घटना के बारे में चर्चाएँ करते हैं. मामले को लेकर पहली बार कोई मीडिया टीम मौके पर पहुंची.

जागरूक टाइम्स की टीम घटनास्थल सबसे पहले उनरोड़ पहुंची और मासूम के नाना, मामा से मामले के बारे में वार्ता की। हमसे बातचीत में मासूम के परिजनों में काफी रोष नगर आ रहा है। मासूम के नाना का कहना है कि वे घटना के वक्त घर मे नहीं थे। वे अपने भाई के घर मे शादी होने के कारण वहां गए हुए थे। इसी बीच आरोपी राशिद उसे उसके घर से अगवा कर ले गया और मासूम के साथ दुष्कर्म कर उसे मौत के घाट उतार दिया। शादी के माहौल में बच्ची कहाँ है इस पर किसी ने नहीं सोचा, उन्हें लगा शायद बच्ची कहीं सो गई होगी। लेकिन, सुबह जब हुई तो बच्ची के साथ दरिंदगी और हैवानियत का मामला सामने आया। मासूम के मामा का कहना है कि आरोपी पूर्व में चोरी की वारदातों को अंजाम दे चुका है।

जिसे जमानत पर किसी परिचित ने छुड़वा लिया और आरोपी राशिद ने उसकी मासूम भानजी को हैवानियत का शिकार बना डाला। मामा का साफ तौर पर कहना है कि मासूम के साथ ऐसी घृणित घटना को अंजाम देने वाले आरोपी को कम से कम फांसी की सजा तो होनी ही चाहिए। दूसरी तरह आरोपी ने घृणित काम को अंजाम देने के बाद वहां से भागने की कोशिश की लेकिन, ग्रामीणों की मदद से उसे पकडवा दिया गया. कई सवाल हैं जो लोगों की जुबान पर भी हैं जैसे- मुकदमा जहाँ घटना घटित हुई वहाँ नाना से दर्ज करवा कर उसके चाचा से दर्ज करवाया? साथ ही साथ बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म मामले में सोशल मीडिया पर लोगों का यह आरोप हैं कि मृतका से गैंगरेप की आशंका ज्यादा है इसलिए जाँच पारदर्शी हो.

सरकार के नुमाइन्दो पर फूटा परिजनों का गुस्सा, सर्वसमाज से मासूम के पिता ने कि अपील
सरकार से नाराज परिजनों का गुस्सा यहाँ बात करने पर फूट पड़ा. बालेबा गाँव में मासूम मेनका के परिजनों ने कहा कि यह घटना इतनी दर्दनाक हैं कि इसकी बारे में कोई सोचना नही चाहता. लेकिन, बेटी बचाने के नारे को बुलंद करने वाली सरकारों को उनकी सुध लेनी चाहिए थी और विडम्बना यह हैं कि कोई नेता नहीं आया. उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद हैं कि पुलिस गम्भीरता से इसकी जांच करके न्याय दिलाएगी. उन्होने कहा कि जिसे तकलीफ होती है दर्द वही जान सकते हैं लेकिन, नेता केवल वोटों के भूखे है। वहीं मामले को लेकर मासूम के पिता ने कहा कि 'मैं हिन्दू व सर्वसमाज से हाथ जोड़कर अपील करता हूँ कि न्याय दिलाने मे सहयोग करें। ताकि, मेरी बेटी के साथ जो कुछ हुआ वो, किसी बेटी के साथ ना हो।

बातचीत के दौरान फफक पड़े माँ और दादी
घटना के बारे मे पूछने पर माँ और दादी फफक-फफक कर रोने लगे, उनके गले से आवाज तक नहीं निकली। उनका कहना था कि उनकी मासूम बेटी के साथ दरिंदगी करने वाले आरोपी जल्द फांसी दी जाये वरना, हम घर के सदस्य जलकर आत्मदाह कर लेंगे।

जिले सहित प्रदेश भर मे घटना को लेकर आक्रोश
बाड़मेर के सरहदी इलाके में हुए इस पूरे घटनाक्रम के बाद से लोगो में भारी गुस्सा हैं. लोग रशीद नामक इस भेड़िये को फांसी पर लटकाने की मांग कर रहे हैं. राज्य भर में इसके खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं और लोगों का मासूम को न्याय दिलाने के लिए कैम्पेन शुरु हो चुका हैं. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने पूरे प्रदेश में आन्दोलन छेड़ दिया हैं. दूसरी तरह पुलिस का कहना हैं कि वो इस प्रकरण को लेकर बेहद गम्भीर हैं और मासूम को न्याय दिलाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ने वाली हैं.

पुलिस ने आरोपी को लिया 3 दिन के रिमांड पर
मामले को लेकर बाड़मेर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए मासूम के साथ दुष्कर्म व ह्त्या के मामले मे नामजद आरोपी राशिद को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी को न्यायालय मे पेश कर 3 दिन के लिए रिमांड पर लिया। मामले को लेकर पुलिस गंभीर है और आरोपी से पूछताछ की जा रही है। वहीं परिजनों का कहना है कि उन्हे पुलिस पर भरोसा है कि उन्हे न्याय मिलेगा व आरोपी को फांसी कि सज़ा होगी।

Leave a comment