आचार्य लोकेश का शिकागो के भारतीय दूतावास में स्वागत

जागरूक टाइम्स 316 Jul 3, 2018

- 'हिंसा मुक्त विश्व -आध्यात्मिक प्रवचनÓ का शिकागो के भारतीय दूतावास में आयोजन

बाड़मेर @ जागरूक टाइम्स

अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक मूलत: पचपदरा में जन्मे जैन आचार्य डॉ. लोकेश मुनि का शिकागो के भारतीय दूतावास में भारत की राजदूत नीता भूषण ने स्वागत किया। इस अवसर पर 'हिंसा मुक्त विश्व - अध्यात्मिक प्रवचन' का आयोजन किया गया। 

राजदूत नीता भूषण ने आचार्य लोकेश मुनि का स्वागत करते हुए कहा कि उन्होंने कई बार आचार्य लोकेश के अहिंसा, सद्भावना और शांति पर वक्तव्य सुने हैं। आचार्य लोकेश ने अध्यात्म को विश्व में अहिंसा, शांति और सद्भावना की स्थापना का माध्यम बनाया है, यह बेहद प्रशंसनीय है। अमेरिका और भारत एक साथ 'हिंसा मुक्त विश्व' की कल्पना को पूरा करे। इसी उद्देश्य से शिकागो में भारतीय दूतावास में इस संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। हम सभी शांति चाहते हैं, उसके लिए हमें प्रयास करने होंगे। शांति के लिए अहिंसा को अपनाना आवश्यक है। आचार्य लोकेश ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि विश्व जिस विनाश की ज्वालामुखी पर खड़ा है। उससे केवल अहिंसा के मार्ग पर चलकर ही बचाया जा सकता है। आतंक के साये में जी रहे लोग सत्य, प्रेम व अहिंसा से सरोकार नहीं रखते हैं। यही वर्तमान की कमजोरी है और यही हमारी विवशता है। आज के मानव के दुखों को दूर करने के लिए अहिंसा व सद्भाव का मार्ग बेहद महत्वपूर्ण है। अपेक्षा है अहिंसा के प्रायोगिक प्रशिक्षण की, अहिंसा ही वह मार्ग है जिस पर चलकर स्वस्थ समाज का निर्माण हो सकता है। हिंसा से किसी समस्या का समाधान संभव नहीं होता है।

शिकागो जैन सोसायटी रजत जयन्ती समारोह के मुख्य प्रायोजक प्रबोध वैद्य ने आचार्य लोकेश के विश्वव्यापी मानवतावादी कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए कहा कि आचार्य लोकेश ने धर्म को समाज सेवा से जोड़कर उससे विश्व शांति और सद्भावना का मार्ग दुनिया को दिखाया है। इससे विश्व जनमानस लाभान्वित हो रहा है। मोटिवेशनल स्पीकर राहुल कपूर व प्रसिद्ध संगायक विक्की पारेख ने अहिंसा विश्व भारती के नव प्रकाशित परिचय फोल्डर व मीनल शाह ने स्व लिखित ग्रन्थ राजदूत नीता भूषण को भेंट किया। शिकागो जैन संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी किशोर भाई शाह, महेन्द्र भाई, कुसुम बेन शाह, अशोक शाह ने राजदूत नीता भूषण का शिकागो दूतावास की ओर से कार्यक्रम आयोजित करने के लिए धन्यवाद दिया।

Leave a comment