ससुराल पक्ष पर विवाहिता को प्रताडि़त करने का आरोप, सैकड़ों लोगों ने सौंपा एसपी को ज्ञापन

जागरूक टाइम्स 840 Aug 3, 2018

- देर रात महिला थाना में ससुराल पक्ष पर दर्ज हुआ मामला

बाड़मेर @ जागरूक टाइम्स

राज्य सहित केंद्र सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ सहित महिला सशक्तीकरण के बड़े-बड़े दावे कर रही है। वहीं प्रदेशभर में बेटियों व महिलाओं पर अत्याचार थमने का नाम नहीं ले रहे। ऐसा ही मामला गुरुवार देर रात बाड़मेर में सामने आया है। विवाहिता की तबीयत गुरुवार देर रात बिगड़ गइर्। जिसका इलाज राजकीय अस्पताल बाड़मेर मे चल रहा है। वहीं आरोपी ससुराल पक्ष पर महिला पुलिस थाने मे मामला दर्ज करवाया गया है। मामले को लेकर सोनी समाज में रोष व्याप्त है। सोनी समाज के सैकड़ों लोगों ने आरोपी ससुराल पक्ष के खिलाफ बाड़मेर एसपी को ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही की मांग की है। 

ज्ञापन मे समाज के लोगों ने बताया कि ससुराल पक्ष शादी के बाद से ही विवाहिता को लगातार प्रताडि़त कर रहे हैं। वहीं विवाहिता पर दबाव बनाकर उसके पीहर पक्ष से दहेज के रूप मे बड़ी राशि ऐंठ चुके हैं। लगातार दबाव बनाते हुए विवाहिता को शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताडि़त किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि शादी के बाद से आज दिन तक विवाहिता को उसके पीहर पक्ष से मिलने तक नहीं दिया गया। गत 29 जून को विवाहिता के भाई की शादी थी और जब विवाहिता के पीहर पक्ष से उसे लेने गए तो उसे भेजने से इनकार भी कर दिया। साथ ही समाज के लोगों ने ससुराल पक्ष पर विवाहिता को यातनाएं देने के साथ नशीला पदार्थ पिलाने का भी आरोप लगाया है। समाज के सैकड़ों लोगों ने एसपी को ज्ञापन सौंपकर आरोपी ससुराल पक्ष पर कानूनी कार्यवाही करवाने की मांग की है। 

यह है मामला 

विवाहिता को प्रताडि़त करने का मामला गुरुवार देर रात सामने आया। घटना अनुसार महाविद्यालय व्याख्याता बिहारीलाल सोनी की पुत्री संगीता का विवाह करीब साढ़े तीन साल पूर्व एडवोकेट एवं नोटेरी पब्लिक महेश सोनी के पुत्र ललित सोनी के साथ हुआ था। शादी के तीसरे दिन ही महेश अपनी पत्नी को छोड़ पढ़ाई के लिए बैंगलूरु रवाना हो गया था। तब से लेकर आज तक संगीता असामान्य जीवन जी रही है। ना ही ससुराल में उसे बहु की तरह रखा गया है और ना ही उसे पतित्व का कोई सुख मिला। वहीं संगीता को लगातार शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताडि़त किया जा रहा है। विवाहिता के चाचा मांगीलाल पुत्र करमचंद सोनी ने बताया कि संगीता के ससुराल वालों द्वारा दी गई यातनाओं से वह दहेज की मांग से तंग आकर मैंने 10 दिन पहले समाज को रिकॉर्ड पेश कर न्याय दिलाने के लिए इक_ा किया। जिससे नाराज होकर संगीता के ससुराल वालों ने गुरुवार देर रात्रि संगीता को मारने की नीयत से नशीला पदार्थ पिलाया और घर से उठाकर उसके पीहर लाकर पटक दिया। इस दौरान पीहर पक्ष के लोगों ने उससे कुशलक्षेम पूछने की कोशिश की, लेकिन उसकी तबीयत बिगडऩे लगी और वह बेहोश हो गई। तब परिजनों ने संगीता को जिले के राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसका इलाज चल रहा है।

Leave a comment