खत्म हुआ गोत्र विवाद, पुष्कर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बताया अपना गोत्र

जागरूक टाइम्स 1063 Nov 26, 2018

अजमेर । पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान 7 दिंसबर को होने वाले चुनाव को लेकर अब राजस्थान में चुनावी सरगर्मियों तेज हो चुकी है। राजस्थान के रण को जीतने के लिए दोनों ही दल पूरी तरह मैदान में उतर चुके है। इस दौरान दोनों की दलों की राजनीति एक अलग ही स्तर पर पहुंच चुकी हैं। चुनाव प्रचार में इन दिनों सबसे ज्यादा चर्चा जाति और गोत्र को लेकर है।

एक ओर कांग्रेस नेता ने पीएम मोदी की जाति पर टिपप्णी की तो बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की गोत्र पर निशाना साधा। इस कड़ी में राजस्थान में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने सोमवार को अजमेर जाकर ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर चादर चढ़ाई। इसके बाद पुष्कर में जगतपिता ब्रह्मा जी के मंदिर जाकर आखिर कर राहुल गांधी ने अपनी गोत्र का खुलासा कर दिया।

पुष्कर में दर्शन करने के दौरान वहां के पुजारी ने कांग्रेस अध्यक्ष से उनका गोत्र पूछा तो उन्होंने तुरंत इसका जवाब दिया। राहुल ने बताया कि वह कौल ब्राह्मण हैं और दत्तात्रेय उनकी गोत्र है। इसके बाद पुजारी ने मंदिर में पूजा संपन्न कर दी। बता दें कि राहुल गांधी के मंदिर-मंदिर दर्शन के बाद से बीजेपी राहुल से कभी उनके जनेऊधारी होने का प्रमाण तो कभी गोत्र पूछने लगी। इसके पहले मप्र के चुनावी दौरे के दौरान बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए पूछा था, हम राहुल गांधी से पूछना चाहते हैं कि आप जनेऊधारी हैं? आप कैसे जनेऊधारी हैं क्या गोत्र है आपका?

उस वक्त राहुल ने उज्जैन में महाकाल के मंदिर जाकर पूजा-अर्चना की थी। राहुल गांधी जब गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान मंदिरों में दर्शन करने पहुंचे तो इस पर काफी चर्चा हुई। यह भी कहा गया कि राहुल के मंदिर में पूजा-अर्चना के बहाने कांग्रेस सॉफ्ट हिंदुत्व की राजनीति कर रही है।

हालांकि राहुल सोमवार को पुष्कर के मंदिर के साथ ही अजमेर शरीफ की दरगाह भी पहुंचे थे। यहां उन्होंने चादर चढ़ाकर मन्नत मांगी। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस नेता अशोक गहलोत और सचिन पायलट भी रहे। एक ही दिन दोनों धार्मिक स्थान पर पहुंचकर कांग्रेस राजस्थान के दोनों समुदायों के वोटर्स को संदेश देने का काम कर रही है। इसके बाद राहुल पोकरण में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे।

सभा में राहुल ने कहा, 'राजस्थान के युवाओं ने इस देश को यहां तक पहुंचाया है, लेकिन प्रधानमंत्री आपके माता-पिता का अपमान करते हैं, क्योंकि वो कहते हैं कि उनके आने से पहले हिंदुस्तान की जनता ने कुछ नहीं किया।' राहुल ने कहा कि वह कहते हैं कि भारत उनके पहले एक स्लीपिंग जाइंट था।

वह आगे कहते हैं, पहले मोदी जी जहां भी जाते थे 2 करोड़ नौकरियां, किसानों को सही दाम और भ्रष्टाचार की बात करते थे। लेकिन अब उनके भाषण में न रोजगार, न किसानों को सही दाम, न ही भ्रष्टाचार की बात होती है। यही नहीं राहुल ने कहा कि राजस्थान में सरकार बनने के बाद 10 दिन के अंदर कांग्रेस किसानों का कर्जा माफ कर देगी। उन्होंने दावा किया कि कोई भी शक्ति इस बात को नहीं बदल सकती है।

Leave a comment