कुएं में मिला चर्तुथ श्रेणी कर्मचारी विधवा का शव

जागरूक टाइम्स 558 Oct 26, 2018

कुंवारिया। तहसील कार्यालय में करीब 8 साल से कार्यरत गंगापुर थाना सर्कल के नेगेडिया का खेडा गांव की चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी विधवा महिला पारस देवी (46) पति स्व. जगदीशचन्द्र शर्मा का शव गुरुवार सवेरे 10 बजे यहां फियावड़ी पेट्रोल पंप के पास कुएं में मिलने से गांव में सनसनी एवं शोक की लहर छा गई। सूचना पर पहुंची कुंवारिया पुलिस ने शव को ग्रामीणों की मदद से बाहर निकवाया और आरके मोर्चरी में ले जाकर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंपा गया। सूचना पर मौके पर बड़ी संख्या में भीड़ जुट गई।

नेगेडिया का खेड़ा में मृतका के पुत्र पंकज शर्मा ने बताया कि रोजाना की तरह उसकी मां बस द्वारा कुंवारिया तहसील में नौकरी करने जाती थी। बुधवार सवेरे बस से कुंवारिया तहसील कार्यालय पर नौकरी पर गई लेकिन देर शाम तक घर नहीं आई। इस पर परिजनों में अफरा तफरी मच गई। बताया गया कि सवा छह बजे उनके पुत्र की फोन पर बात हुई है कि मैं घर आ रही हूं। वह देर रात तक घर नहीं आई। फिर उसके पुत्र ने उनके ननिहाल भीलवाड़ा जिले के सातलियास गांव बात की तो वहां भी उसके नहीं आने की बात सामने आई। बाद में पुत्र ने बामनिया में मासी के वहां सूचना की। वहा भी नही मिली। इस पर घटना की खबर गांव में आग की तरह फैल गई तो ग्रामीणों ने देर रात तक आस पास की नर्सरियों में भी पता किया। फिर भी नहीं मिली। गांव के सरपंच नवीन प्रजापत कुंवारिया थाना परिसर पर गए। जहां थानाधिकारी योगेंद्र व्यास को महिला के गुम होने की बात बताई। इस पर आठ दस लोग सड़क किनारे पेट्रोल पंप के पास नानालाल प्रजापत के खेत में जाकर कुएं के अंदर झांका तो कुए में पानी के ऊपर महिला के चप्पल तैरते नजर आए।

फिर ग्रामीणों ने पुलिस को कुएं पर बुलाया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर कुएं में बलाई घुमाई तो औरत के हाथों में पहने पाटले में बलाई फंसी और रस्सी को खींचा तो शव बाहर आया। महिला के सिर में खून आने से सरपंच सहित ग्रामीणों ने मर्डर की आशंका जाहिर की। इस पर कुंवारिया थाना अधिकारी योगेंद्र व्यास ने शव को आर के मोर्चरी पहुंचाकर मेडिकल बोर्ड बिठाकर पोस्टमार्टम करवाया। थानाधिकारी ने बताया कि मौत का कारण सपष्ट नहीं है। मेडिकल पोस्टमार्टम से रिपोर्ट आने के बाद ही खुलासा हो पाएगा।

पुलिस ने मृतका के पुत्र पंकज की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया है। परिवार का पालन पोषण करती थी महिलाग्रामीणों ने बताया कि मृतका नौकरी करके परिवार का गुजारा चलाती थी। करीब 10 साल पूर्व विधवा के पति की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। जिस पर इसकी नौकरी लगी। मृतका के एक लड़का व एक लड़की है। महिला का स्वभाव भोला एवं मिलनसार था। महिला एकाएक किसी अनजान व्यक्ति का भरोसा भी नहीं करती थी।

Leave a comment