राज ठाकरे को ईडी नोटिस, दुखी कार्यकर्ता ने की आत्महत्या!

जागरूक टाइम्स 270 Aug 21, 2019

ठाणे (ईएमएस)। ठाणे में रहने वाले महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के एक कार्यकर्ता ने आत्महत्या कर ली। पार्टी का आरोप है कि कार्यकर्ता, पार्टी प्रमुख राज ठाकरे को मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का नोटिस मिलने के बाद से तनाव में था। इसी तनाव के चलते उसने आत्महत्या कर ली। हालांकि इस मामले की जांच कर रही पुलिस ने कहा कि उन्हें घटनास्थल से कोई भी सूइसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस जांच कर रही है कि आखिर कार्यकर्ता ने आत्महत्या क्यों की। पुलिस सब इंस्पेक्टर महेश कावडे ने बताया कि मरने वाला युवक प्रवीण चौगुले शराब का लती था। महेश कावडे ने बताया कि प्रवीण अपने घर कलवा पहुंचा। यहां उसने अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली।

पड़ोसियों ने जब उसके घर से चीख सुनी और धुआं उठते देखा तो वे उसके घर की तरफ दौड़े। लोगों ने पुलिस को सूचना दी। प्रवीण को आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने बताया कि प्रवीण के घर से कोई सूइसाइड नोट नहीं मिला है इसलिए आत्महत्या का कारण स्पष्ट नहीं है। हालांकि पुलिस ने ऐक्सिडेंटल मौत का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि प्रवीण टूरिस्ट बस ऑपरेटर था और अकेले ही रहता था। उन्होंने दावा किया कि प्रवीण पहले भी दो-तीन बार आत्महत्या करने का प्रयास कर चुका था।

वहीं एमएनएस ठाणे यूनिट के प्रवक्ता नैनेश पटनाकर ने कहा कि राज ठाकरे को जब से ईडी का नोटिस मिला था तब से प्रवीण बहुत तनाव और गुस्से में था। उसने अपना गुस्सा कई दूसरे कार्यकर्ताओं से व्यक्त किया था। उसने अपने फेसबुक पेज पर भी ईडी के नोटिस पर गुस्सा दिखाते हुए एक पोस्ट लिखी थी। प्रवीण की मौत की सूचना मिलते ही कई एमएनएस के कार्यकर्ता हॉस्पिटल पहुंचे। आपको बता दें कि इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग ऐंड फाइनैंशल सर्विसेज (आईएलएऐंडएफएस) घोटाले की जांच के सिलसिले में ईडी ने ठाकरे को समन किया है। आईएलऐंडएफएस द्वारा कोहिनूर सीटीएनएल इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी में 450 करोड़ रुपये से अधिक के कर्ज एवं इक्विटी निवेश से जुड़ी कथित अनियमितताओं की ईडी जांच कर रही है। कोहिनूर सीटीएनएल इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी मुंबई के दादर इलाके में कोहिनूर स्क्वेयर टावर का निर्माण कर रही है।


Leave a comment