ऑनलाइन दवा विक्री के विरोध में 28 को भिवंडी के मेडिकल स्टोर रहेंगे बन्द

जागरूक टाइम्स 116 Sep 26, 2018

भिवंडी। देश के 8 लाख मेडिकल स्टोर कल 28 सितंबर को अपने कारोबार 24 घंटे के लिए बंद रखेंगे इस प्रकार का आह्वाहन अखिल भारतीय औषधि विक्रेता संघ के अध्यक्ष जगन्नाथ शिंदे ने किया है। दवा कारोबारी संगठन का आरोप है कि भारत सरकार विदेशी कंपनियों के दबाव में आकर ऑनलाइन दवा बेचने का कानून बनाकर देश के दवा कारोबारियों और जनता के साथ अन्याय कर रही है।

इसी सिलसिले में भिवंडी केमिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष जगदीश बिर्ला ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से जानकारी देते हुए बताया है कि अखिल भारतीय औषधि विक्रेता संघ के आवाहन पर भिवंडी के सभी मेडिकल स्टोर 24 घंटे के लिए 27 सितम्बर की रात 12:00 बजे से 28 सितम्बर की रात 12:00 बजे तक बंद रहेंगे। जगदीश बिर्ला ने आगे बताया कि ऑनलाइन और पोर्टल फार्मेसी के जरिए देश की जनता की सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है यह सब विदेशी कंपनियों की साजिश है। हमारे मेडिकल स्टोर पर जब भी कोई मरीज दवा लेने आता है तो डॉक्टर की लिखी पर्ची पर फार्मासिस्ट की मौजूदगी में जिम्मेदारी से दवा दी जाती है। पोर्टल और ऑनलाइन फार्मेसी में इस बात की कोई गारंटी नहीं रहेगी कि मरीज को जो दवा भेजी जा रही है उसकी गुणवत्ता कैसी है ? ग्राहक बोगस ऑर्डर पर दवा मंगाएगा जिसमे नशा करने वाले युवक, अपराधी प्रवृत्ति के लोग इसका ग़लत प्रयोग कर सकते हैं। बहुत से बोगस ऑनलाइन फार्मेसी खुलेंगे 6 महीने और 1 साल कारोबार करके वह अपनी फार्मेसी बंद कर देंगे।

ऐसी ऑनलाइन फार्मेसी की ना तो उनकी कोई जवाबदारी होगी और ना ही कोई उनकी जिम्मेदारी होगी। ऑनलाइन फार्मेसी से विदेशी कंपनियों को बढ़ावा देने वाला यह कार्यक्रम जिसकी वजह से देश के लगभग 8 लाख दवा कारोबारी और उस पर निर्भर एक करोड़ लोगो की ज़िंदगी पर गंभीर रूप से प्रभाव पड़ने वाला है। हम एक दिन का बन्द रख कर सरकार का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करते हुए सरकार से मांग करते हैं कि इस काले कानून को वापस लिया जाए और भारत में ऑनलाइन फार्मेसी और पोर्टल फार्मेसी को बंद किया जाए। सरकार हमारी मांग पर विचार करती है तो ठीक है अन्यथा अनिश्चित कालीन हड़ताल की जाएगी। मरीज़ों को होने वाली तकलीफ की ज़िम्मेदारी सरकार पर होगी।

Leave a comment