भिवंडी-कल्याण मार्ग पर टोल वसूलने वाली निजी कंपनी के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज करने की मांग

जागरूक टाइम्स 190 Jul 12, 2018

भिवंडी । भिवंडी-कल्याण रोड पर कोनगांव के पास सड़क पर गड्ढे के कारण ट्रक पलटने से रिक्शा में बैठे युवक की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए शिवसेना नेता व ठाणे जिला परिषद बांधकाम व आरोग्य समिति सभापति सुरेश उर्फ बाल्या मामा म्हात्रे ने कोनगांव पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ निरीक्षक को ज्ञापन देकर भिवंडी-कल्याण रोड पर टोल वसूलने वाली निजी कंपनी पर हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की है।

वहीं इस घटना को गंभीरता से लेते हुए भिवंडी पूर्व विधानसभा के शिवसेना विधायक रूपेश म्हात्रे ने विधानसभा में अवचित का मुद्दा उपस्थिति कर प्रश्न उठाया और उक्त दुर्घटना में मरने वाले हाशिम हनीफ शेख तथा रिक्शा में सवार यात्री विष्णु तरलकर, राम प्रकाश नारंग, सचिन बाविस्कर, कैलाश रायफुले के गंभीर घायल होने के लिए इस सड़क पर टोल वसूल करने वाली कंपनी एमईपी तथा महानगर गैस पाइपलाइन कंपनी को जिम्मेदार ठहराते हुए इन दोनों के ऊपर फौजदारी का मामला दर्ज करने की मांग की तथा उक्त दोनों कंपनी से मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपए तथा जख्मियों को 5 -5 लाख रुपये आर्थिक सहायता राशि शासन से देने की मांग की है।

गौरतलब हो कि भिवंडी कल्याण रोड स्थित कोन गांव के पास पशु खाद्य से भरा ट्रक सड़क पर हुए बड़े गड्ढे में चक्का जाने के कारण बगल से गुजर रहे ऑटो रिक्शा पर पलट गया इस दुर्घटना में रिक्शा में सवार हाशिम हनीफ शेख नामक 40 वर्षीय युवक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई तथा विष्णु वासुदेव तरलकर ,रामप्रकाश नारंग, सचिन बाविस्कर व रायफुले नामक 4 यात्री गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

कोनगांव के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रमेश काटकर को दिए गए ज्ञापन में शिवसेना नेता सुरेश म्हात्रे ने बताया है कि भिवंडी कल्याण मार्ग पर टोल वसूलने वाली निजी कंपनी रास्ते की देखभाल तथा मरम्मत नहीं करती। जिसके कारण जगह-जगह पर गड्ढों का साम्राज्य फैल हुआ है। इस सड़क पर टोल वसूलने का काम एमईपी नाम की निजी कंपनी द्वारा किया जाता है। कंपनी रास्ते की मरम्मत करने के काम में टालमटोल करती है। जिसके कारण यात्रियों तथा वाहन चालकों को आवागमन में अनेक प्रकार की भारी परेशानी होती है।

रास्ते में गड्ढे होने के कारण आए दिन इस मार्ग पर भयंकर रूप से यातायात बाधित रहती है। जिसमें कई बार एंबुलेंस फस जाती है, जिसमें ले जा रहे मरीज को जान गवाना पड़ती है। भिवंडी-कल्याण मार्ग पर ट्रैफिक की भारी आवागमन होती है। इस सड़क को राज्य शासन ने बीओटी पद्धति से बनाकर इसकी देखभाल तथा मरम्मत करने के लिए एमईपी नामक निजी कंपनी को स्थानांतरित किया है। शिवसेना नेता ने आरोप लगाया है कि उक्त कंपनी केवल अपने आर्थिक लाभ के लिए टोल की वसूली करती है। नागरिकों की तथा वाहन चालकों की परेशानी से इसका दूर दूर तक कोई वास्ता नहीं है। जो एक गंभीर मामला है।

ज्ञापन में शिवसेना नेता सुरेश बाल्या मामा म्हात्रे ने ठेकेदार कंपनी को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सात दिनों में भिवंडी कल्याण रोड पर हुए सभी गड्ढों को व्यवस्थित रूप से मरम्मत कर सही नहीं किया गया, तो शिवसेना महानगर गैस कंपनी तथा टोल वसूलने वाले ठेकेदार एमईपी कंपनी के विरुद्ध तीव्र आंदोलन शुरू करेगी जिसकी सारी जिम्मेदारी कंपनी प्रशासन की होगी।

Leave a comment